मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना मध्य प्रदेश 2023

9 Min Read
मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना मध्य प्रदेश 2023

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना मध्य प्रदेश हमारे देश के किसान बिजली से चलने वाले पम्प की मदद से खेतो में सिचाई करते है। जहाँ पर बिजली बार बार कट जाने की समस्या होती है। डीज़ल पम्प का उपयोग करना किसानो को काफी महंगा पड़ता है और डीजल के उपयोग से प्रदूषण भी बहुत होता है।

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना की जानकारी

इन सभी परशानियों से निपटने की लिए राज्य सरकार सोलर पंप योजना 2022 का शुभारंभ किया है। इस योजना के अंतर्गत मध्यप्रदेश सरकार किसानों को सोलर पंप वितरित करेगी। इस योजना से प्रदेश के किसानों को खेतों की सिचाई आसानी से कर पायेंगे। जिससे किसानों अधिक लाभ मिलेगा।

मध्यप्रदेश सोलर पंप योजना का उद्देश्य

मध्यप्रदेश सोलर पंप योजना के द्वारा सरकार किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सब्सिडी दर पर सोलर पम्प उपलब्ध करवाएंगी। इस योजना में केंद्र सरकार और मध्य प्रदेश सरकार द्वारा 90% राशि का अनुदान दिया जा रहा है। इससे राज्य में बागवानी की फसलों को अधिक बढ़ावा मिलेगा।

इन सोलर पम्प की मदद से खेतो में सिचाई करने से पर्यावरण प्रदूषण कम होगा और किसानो की आय में अधिक वृद्धि होगी। इस योजना से विद्युत कंपनियों द्वारा बिजली की अस्थाई कनेक्शन को कम करने में बहुत मदद मिलेगी।

 सोलर पंप योजना के लाभ

इस योजना के अंतर्गत राज्य के किसानो को सोलर पम्प प्रदान किये जायेगे। इस योजना का लाभ राज्य के सभी किसान उठा सकते है और सोलर पंप की मदद से आसानी से अपने खेतो में सिचाई कर सकते है।

योजना का लाभ उन किसानों को मिलेगा। जिनके खेतों के आसपास बिजली की सुबिधा नहीं है।

ऐसे ग्रामीण क्षेत्र जहाँ पर बिजली की सुबिधा है विधुत लाइन से कम से कम 300 मीटर की दूरी पर स्थित हो। उन्हें भी इस योजना का लाभ प्रदान किया जायेगा।

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना मध्य प्रदेश 2023

सोलर पंप योजना से किसानों का वित्तीय बोझ कम होगा।

डीजल के इस्तेमाल से होने वाले खर्च एंव प्रदूषण पर में कमी आएगी। राज्य के जिन क्षेत्रो में उर्जा वितरण कंपनियों द्वारा बिजली की व्यवस्था नहीं की जा सकी है।

जिसके कारण किसानों को सिंचाई के लिए बिजली के अस्थायी कनेक्शन की व्यवस्था करनी पड़ती हो। ऐसे  किसानो को पीएम सोलर पंप योजना के तहत प्राथमिकता दी जाएगी।

सोलर पंप योजना के लिए दस्तावेज़ एवं पात्रता 

  • आवेदक का मध्यप्रदेश निवासी होना अवश्यक है।
  • आवेदक के पास किसान कार्ड होना चाहिए ।
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • खेती योग्य भूमि के कागज़ात
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

सोलर पंप योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे

प्रथम चरण

सर्वप्रथम आवेदक को योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।  Mobile number दर्ज करने के बाद एप्ली‍केशन मोबाइल पर OTP भेजकर सही नंबर की जॉंच करेगा। OTP सत्यापन के बाद कृषक को सामान्य जानकारी भरनी होगी।

इसके बाद आपको सामान्य जानकारी जैसे आवेदक का नाम,जिला,तहसील,गांव आदि सभी जानकारी भरनी होगी। सभी जानकारी भरने के बाद आपको next पर क्लिक करना होगा।

फिर एक बार सामान्य जानकारी भरने के बाद यहॉं पर कृषक का आधार नम्बर, EKYC, बैंक अकाउण्ट संबंधी जानकारी,जात‍ि स्वाघोषणा,जमीन से संबंध‍ित खसरे की जानकारी एवं चाहे गए सोलर पंप की जानकारी दर्ज की जानी होगी।

मध्यप्रदेश फ्री लैपटॉप योजना 2023 | Free Laptop Yojana

मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना | Cm Uddhayam Kranti Yojana
मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना मध्य प्रदेश 2023

दूसरा चरण

सोलर पंप स्कीम एप्लीकेशन फॉर्म का पहला चरण भरने के बाद दूसरे चरण में आगे का फॉर्म भरना है। यहॉं पर कृषक का आधार ईकेवायसी, बैंक अकाउण्ट संबंधी जानकारी, जात‍ि स्वाघोषणा,जमीन से संबंध‍ित खसरे की जानकारी एवं अपने पसंद के सोलर पंप की जानकारी दर्ज करनी होगी। 

आधार eKYC

क‍िसी भी व्यक्ति की पहचान को स्थाप‍ित करने के ल‍िए केवायसी क‍िया जाता है। योजना के अनुरूप आधार आधार‍ित ई- केवायसी (e-KYC) किया जाना आवश्यक है। इसे करने के ल‍िए दो आप्शन उपलब्ध कराये गए हैं (i) OTP द्वारा (ii) बायोमेट्रिक द्वारा। ज‍िसका मोबाइल नंबर आधार से ल‍िंक नही है, उसका eKYC बायोमेट्रिूक मशीन द्वारा क‍िया जा सकता है।

यद‍ि क‍िसी कारणवश आधार eKYC नही हो पाता है तो पोर्टल 3 प्रयासों के बाद स्वघोषणा पर आगे की कार्यवाही जारी रखेगा। यह उल्लेखनीय है क‍ि ऐसे प्रकरणों में दी गयी जानकारी का अलग से सत्यापन कराया जा सकता है एवं क‍िसी तरह की भ्रामक एवं गलत जानकारी देने पर आवेदन खार‍िज क‍िया जा सकता है।

बैंक अकाउंट की जानकारी,समग्र की जानकारी,जातिवर्ग की जानकारी

खसरा मैपिंग की जानकारी

योजना प्रावधान अंतर्गत राज्य में कृष‍ि भूम‍ि पर ही योजना का लाभ ले सकते हैं। कृष‍ि भूम‍ि के सत्यापन के ल‍िए आवेदक के आधार नंबर से ल‍िंक खसरे को चुनना होगा। यद‍ि भू अभ‍िलेख से खसरे प्राप्त नही होते हैं तो आवेदक अन्य‍ खसरे चुन सकता है एवं आगे की प्रक्रिया जारी रख सकता है। चुने गए अन्य् खसरे का सत्यापन अलग से कि‍या जा सकता है।

आधार से जुडे खसरे प्राप्त करना

यद‍ि कृषक के खसरे की जानकारी आधार से जुडी हुई है तो स‍िस्टम स्वत: ही खसरों की सूची ले आवेगा। इसके लिए  कृषक का eKYC होना आवश्यक है।

यद‍ि संबंध‍ित कृषक के खसरे आधार से संलग्न नही हैं तो अन्य खसरे ल‍िंक करने ल‍िए क्लिक करें। यहॉं से कृषक की भूम‍ि ज‍िस भी ग्राम में है, उस ग्राम को चुनें, स‍िस्ट‍म चुने गए ग्राम के समस्त खसरे सूची में उपलब्ध करावेगा। ग्राम चुनने पर सभी खसरे की सूची प्राप्त करने में स‍िस्टम को कुछ समय लगता है इसलिए थोडा इंतजार करना होगा।

अब चुने गए खसरे को जोडने के लि‍ए क्लिक करें अंत में मैं प्रमाण‍ित करता/करती हूँ क‍ि मेरे द्वारा दी जा रही उपरोक्त जानकारी पूर्णत: सत्य है के चेकबाक्स को चुनकर स्वप्रमाणन देते हुए खसरे चुनकर सुरक्षिरत करें और क्लिक करें।

सोलर पंप की जानकारी 

अंत में चाहे गए सोलर पंप की जानकारी द‍िए गए फार्म अनुसार भरनी होगी। खसरा नंबर फील्ड में केवल वही खसरे नंबर आवेगें जो क‍ि पूर्व चरण में जोडे गए हैं। जैसे ही आप सोलर पंपिंग सिस्टम का प्रकार चुनेगें तो टेबल में कृषक अंश की राश‍ि आ जायेगी। अब सुरक्षित करें पर क्लिक करके आवेदन के अंत‍िम चरण में जा सकते हैं।

आपके द्वारा भरी गई जानकारी की जॉंच कर लेवें। आवश्यक होने पर क‍िसी भी चरण पर जाकर जानकारी को बदला जा सकता है। अंत में आवेदक को योजना की दी गयी शर्तें तथा दी गयी जानकारी की सत्यता संबंधी स्वाघोषणा द‍िए गए चेकबाक्स पर क्लिक करनी होगी।

 जानकारी हेतु प्रिंट कर भव‍िष्य के ल‍िए सुरक्षित रखा जा सकता है। आवेदन को सुरक्षित करने पर पोर्टल आवेदन क्रमांक आवंट‍ित कर SMS के माध्यम से सूच‍ित करेगा तथा आपको आनलाइन पेमेण्ट हेतु आगे बढ़ना होगा।

पेमेण्ट हो जाने पर आवेदक को आवेदन क्रमांक प्राप्त हो जावेगा तथा SMS के माध्यपम से भी सूचना प्राप्त हो जावेगी।

[sp_easyaccordion id=”31202″]

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Exit mobile version