अब बेटियों के जन्म पर हिमाचल प्रदेश सरकार देगी 2 लाख, लड़कियाँ नहीं रहेगी बोझ

अब बेटियों के जन्म पर हिमाचल प्रदेश सरकार देगी 2 लाख

हिमाचल प्रदेश में सरकार ने बेटियों के जन्म को लेकर अब तक की सबसे बड़ी घोषणा कर दी है जिसमें मुख्यमंत्री सूखे ने ऐलान करते हुए कहा है कि अब हिमाचल प्रदेश में एकल बेटी परिवार यानी कि एक बेटी पैदा होने के बाद दूसरे बच्चा पैदा न करने वाली महिला या परिवार को ₹200000 की इनामी राशि सरकार के द्वारा प्रदान की जाएगी। जबकि एक के बाद अगर किसी महिला को दूसरे गर्भधारण के दौरान बेटी ही पैदा होती है और उसके बाद बच्चा पैदा नहीं करते हैं तो ऐसी महिला परिवार के लिए हिमाचल प्रदेश सरकार के द्वारा ₹100000 की इनामी राशि प्रदान की जाएगी। किसी भी राज्य की सरकार के द्वारा बेटी जन्म के लेकर अब तक का यह सबसे बड़ा ऐलान होगा जिसमें इतनी बड़ी राशि को सरकार के द्वारा दिया जाएगा और यह राशि एक बेटी पर ही नहीं बल्कि दो बेटियों के जन्म होने पर भी दी जाएगी।

एक बेटी के जन्म पर 2 लाख

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री के द्वारा जो यह ऐलान किया गया है उसमें यह बताया गया है कि अगर किसी परिवार में केवल एक ही बेटी है यानी की मात्र एक ही जन्म लेती है और उसके बाद कोई भी बालक या बालिका महिला परिवार नहीं करते हैं तो ऐसे परिवार को सरकार के द्वारा ₹200000 की राशि प्रदान की जाएगी। जिसकी सबसे बड़ी साथ यही है कि एक परिवार में केवल एक ही बेटी होनी चाहिए।

दो बेटियों पर भी 1 लाख का इनाम

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री के द्वारा दी जाने वाली इनामी राशि को यही नहीं रोका मुख्यमंत्री ने ऐलान करते हुए यह भी कहा कि अगर किसी परिवार में एक के बाद अगर दूसरी बेटी भी जन्म लेती है यानी कि सिर्फ दो बेटियां ही एक परिवार में है तो ऐसे परिवार को भी ₹100000 की राशि सरकार के द्वारा प्रदान की जाएगी। इसकी भी सबसे बड़ी सच यही है कि एक परिवार में एक माता-पिता के नाम पर केवल दो ही बेटियां होनी चाहिए। एक बेटा और एक बेटी होने की स्थिति में किसी भी प्रकार की सहायता राशि सरकार के द्वारा नहीं दीं जायेगी।

अब बेटियां जन्ममिलेंगे 2 लाख हिमाचल सरकार द्वारा

कन्या भ्रूण हत्या रोकना है उद्देश्य

 हिमाचल प्रदेश सरकार के द्वारा स्कीम के तहत पहले 35000 रुपए की राशि बेटियों के परिवार को प्रदान की जाती थी। लेकिनइसी योजना के तहत अब सहायता राशि को बड़ा कर ₹200000 और ₹100000 कर दिया गया है इस राशि को बढ़ाने का मुख्य उद्देश्य हिमाचल प्रदेश सरकार का हिमाचल प्रदेश में कन्या भ्रूण हत्या को रोकना है,क्योंकि पिछले कुछ सालों में खास करके एक साल 2014 में हिमाचल प्रदेश में कन्या भ्रूण हत्या के सबसे अधिक मामले आने लगे थे। इसके बाद ऐसी घटनाओं को रोकने के उद्देश्य  हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री के द्वारा इस प्रकार की योजना को लागू किया गया है ताकि कन्या भ्रूण हत्या को रोका जा सके। अब तक हिमाचल प्रदेश में 1000 पुरुषों पर 955 महिलाएं है, जो की अब देश भर में तीसरे नंबर में सबसे अधिक महिला साक्षरता वाला राज्य है। बता दे कि केरल इस मामले में सबसे ऊपर अव्वल नंबर पर है।

आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 36 लाख महिलाओं के खाते मे डाले गैस सिलेंडर योजना के पैसे जिस तरह से करें आपके खाते मे आये है पैसे या नहीं

Consession MP Job: मध्यप्रदेश मे महिलाओं के लिए एक और खुशखबरी अब सरकारी नौकरी मे मिलेंगा 35% आरक्षण

Share On
Emka News
Emka News

Emka News पर अब आपको फाइनेंस News & Updates, बागेश्वर धाम के News & Updates और जॉब्स के Updates कि जानकारी आपको दीं जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *