G20 की 5 पांच तस्वीर जिनकी हो रही है खूब तारीफ 

4 Min Read

G20 की 5 पांच तस्वीर जिनकी हो रही है खूब तारीफ 

भारत की अध्यक्षता में G20  सफलतापूर्वक संपन्न हो चुका है, जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं विश्व के सबसे बड़े आर्थिक संगठन g20 की भारत सरकार द्वारा इस वर्ष की अध्यक्षता की गई थी। इसके लिए सरकार ने बहुत जोर जोर से तैयारी की थी इसके लिए सरकार द्वारा कई खूबसूरत तस्वीर भी लगवाई गई थी इन तस्वीरों की खूब चर्चा हो रही है  जो कि अपना एक अलग मैसेज देती है। पांच ऐसी तस्वीरें हैं जिनकी g20 में बहुत चर्चा हो रही है उनमें से एक कोणार्क सूर्य मंदिर की तस्वीर, नटराज की मूर्ति, नालंदाविश्वविद्यालय की तस्वीर, साबरमती आश्रम, वही इंडिया की जगह नेम प्लेट पर भारत का लिखा होना।

G20: नटराज की मूर्ति

भारत में प्रवेश द्वार के ऊपर 28 फीट की ऊंची नटराज की प्रतिमा लगाई गई है, यह प्रतिमा भगवान शिव को नृत्य का सम्राट तथा सृजन तथा विनाश के रूप में परिभाषित करती है नटराज की मूर्ति लगाने के पीछे धार्मिक और ऐतिहासिक दोनों कारण है। हे भगवान शिव के नृत्य तांडव का प्रतीक है वही एक पाव से दानव को नीचे दबे हुए हैं नटराज की यह मूर्ति हमें सकारात्मक ऊर्जा एवं शत्रु के विनाश का संदेश देती है।

कोणार्क चक्र 

भारत मंडप के बैक स्टेज पर कोणार्क चक्र के पहिए की एक बहुत बड़ी ही तस्वीर लगाई गई है। उड़ीसा के कोणार्क मंदिर का चित्र है, कोणार्क चक्र को 13वीं शताब्दी में नरसिंह देव प्रथम के शासन में बनवाया गया था। इस चक्र में 24 तिलिया स्थित है,इन 24 तिलियों को भारतीय राष्ट्रीय ध्वज में शामिल किया गया है।कोणार्क चक्र लगातार बढ़ते समय की गति, प्रगति एवं  प्रगतिशील का संदेश देता है।

नालंदा यूनिवर्सिटी

 नालंदा विश्वविद्यालय पांचवीं शताब्दी से लेकर 12वीं शताब्दी तक अपने अस्तित्व में रहा था यह प्राचीन काल का विश्वविद्यालय था। नालंदा विश्वविद्यालय अपनी प्राचीनता शिक्षा प्रसार एवं अपने ज्ञान के लिए विश्व प्रसिद्ध था। G20 का प्रेरणादायक बात वसुदेव कुटुंबकम की शिक्षा हमें नालंदा विश्वविद्यालय से मिलती है।नालंदा विश्वविद्यालय लोकतंत्र कीहमेशा याद दिलाता रहता है।

कंट्री प्लेट पर लिखा भारत का नाम

ऐसा भारत की पहली बार इतिहास में हुआ है जब  कंट्री प्लेट में इंडिया की जगह भारत का नाम लिखा गया है। भारत में इंडिया बनाम भारत को लेकर बहस के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहले सत्र के दौरान इंडिया की जगह भारत की नेम प्लेट रखी।इससे पहले g20 में जितने भी सम्मेलन हुए थे उनमें इंडिया का नाम लिखा गया था। से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बता दिया है कि इंडिया की जगह  भारत होगा।पीएम नरेंद्र मोदी ने अंतिम सत्र में भी इसी प्लेट के साथ g20 की अध्यक्षता की थी।

साबरमती आश्रम

G20 के दूसरे दिन सभी सदस्य  देश महात्मा गांधी की समाधि स्थल राजघाट पहुंचे जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन सब का स्वागत किया था। इस दौरान बैक स्टेज पर महात्मा गांधी के साबरमती आश्रम की तस्वीर लगाई गई थी। नरेंद्र मोदी ने सभी सदस्यों को खादी वस्त्र पहनकर सबका स्वागत किया था।साबरमती का आश्रम सभी देशों को सत्य अहिंसा शांति कासंदेश देता है।

लड़कियों के लिए सबसे आसान नौकरी कौन सी है?

रिजर्व बैंक इंडिया क्लर्क मैन के एडमिट कार्ड हुए जारी ऑनलाइन कैसे करें डाउनलोड?

TAGGED:
Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Exit mobile version