स्वतंत्रता दिवस पर निबंध (Essay On Independence Day In Hindi) | आज़ादी का पर्व 15 अगस्त पर निबंध (Essay On 15 August In Hindi) पढ़ें

15 Min Read

essay on independence day in hindi , 15 अगस्त भारत के इतिहास में एक ऐतिहासिक और काफी महत्वपूर्ण दिन है क्योंकि इस दिन हमें 200 वर्षो की गुलामी से आजादी मिली थी देश के नागरिकों ने आजाद भारत में सांस ली उनके लिए वापस ऐसा था जैसा मानो उन्होंने साक्षात भगवान के दर्शन कर लिए हैं 15 अगस्त 1947 में पहली बार भारत का तिरंगा फहराया गया,

और लोगों को संबोधित करते हुए जवाहरलाल नेहरू ने कहा था कि भारत अब आजाद हो चुका है और हम सब मिलकर एक नया भारत बनाएंगे ऐसे में अगर आप स्वतंत्रा संग्राम पर निबंध लिखना चाहते हैं तो आप सही आर्टिकल पर पहुंच गए हैं क्योंकि हम आज आपको बताएंगे कि हम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम पर निबंध कैसे लिखेंगे अगर आप इसके बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आर्टिकल को आखिर तक पढ़े आइए जानते हैं- 

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध 300 शब्द) – (76th Essay on Independence Day in 300 words

भारत 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ था जैसा की आप लोगों को मालूम है कि भारत 200 वर्षों तक अंग्रेजों का गुलाम रहा था और आजादी प्राप्त करने के लिए हमारे ना जाने कितने वीर सपूतों ने अपना प्राण निछावर कर दिया उसके बाद ही भारत को आजादी मिली थी आजादी मिलने के बाद देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने लाल किले पर भारत का झंडा फहराया और साथ वालों ने देश को संबोधित करते हुए कहा कि हम सभी लोग अब आजाद हो चुके हैं और हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता है कि देश किस प्रकार विकास के पथ पर आगे बढ़े और हम सबको मिलकर भारत को एक नया भारत बनाना होगा ताकि भारत तेजी के साथ उन्नति कर सकें | इस दिन हम सभी लोगों का स्वतंत्रा दिवस के इस महान उत्सव में सम्मिलित होते हैं और आजादी का उत्सव काफी हर्षोल्लास और धूमधाम के साथ मनाते हैं देश में चारों तरफ इस दिन देश भक्ति के गाने लोगों के द्वारा सुने और गाए जाते हैं |

भारत के सभी सरकारी दफ्तर और स्कूल कॉलेज इस दिन बंद रहते हैं स्वतंत्र दिवस के पावन अवसर पर देश के प्रधानमंत्री लाल किले से देश को संबोधित करते हैं और साथ में अपने भाषण में इस बात का विवरण भी देते हैं कि भारत किस प्रकार आने वाले दिनों में और भी ज्यादा मजबूत और तेजी के साथ दुनिया के पटल पर विकसित होगा उस दिशा में हमें और क्या चीजें करनी चाहिए और देशवासियों का देश के प्रति क्या कर्तव्य है उसके लिए देशवासियों को जागरूक करते हैं |

स्वतंत्र दिवस के दिन भारत के विभिन्न राज्यों में कई प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं इस दिन इंडिया गेट पर  भारतीय सेना के द्वारा आर्मी परेड का आयोजन होता है जिसमें भारत के वीर जवान विभिन्न प्रकार के सैन्य करतब दिखाते हैं | 

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध 2 (400 शब्द) – Essay on 15 August in 400  words 

15 अगस्त 1947 भारत का इतिहास का सबसे गौरवशाली दिन है क्योंकि इस दिन भारत अंग्रेजों की गुलामी से मुक्त होकर एक स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में विश्व के नक्शे पर उद्धव हुआ था  |

आजादी मिलने के बाद देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने लाल किले से देश को संबोधित किया और उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि हम सभी का कर्तव्य है कि एक नए भारत का निर्माण किया जाए ताकि भारत विकासशील देश बन सके  भारत में स्वतंत्र दिवस के पावन अवसर पर देश के प्रधानमंत्री सबसे पहले लाल किले पर झंडारोहण करते हैं उसके बाद देश को संबोधित करते हैं जिसमें भारत में अब तक आजादी के इतने सालों में क्या-क्या उपलब्धियां हासिल की है उसका संक्षिप्त विवरण देश की जनता के सामने प्रस्तुत करते हैं इसके अलावा आने वाले दिनों में भारत नया क्या करने वाला है

उसकी एक पूरी रूपरेखा प्रधानमंत्री अपने भाषण के माध्यम से देश की जनता को बताते हैं भारत को आजादी दिलाने में भारत के कई वीर जवानों ने अपनी आहुति दी है तब जाकर भारत 1947 में आजाद हुआ था हालांकि भारत के आजादी के महानायक महात्मा गांधी को मारा जाता है क्योंकि उनके बारे में कहा जाता है कि उन्होंने सत्य और अहिंसा की राह पर चलते हुए देश को अंग्रेजों के चंगुल से आजाद करवाया था

यही वजह है कि  बापू को भारत का राष्ट्रपिता कहा जाता है इसके अलावा भारत के झांकी में चंद्र शेखर आजाद भगत सिंह खुदीराम बोस सुभाष चंद्र बोस लाला लाजपत राय बकिम चंद्र चट्टोपाध्याय मास्टर सूर्य सेन सरदार बल्लभ भाई पटेल जैसे वीर सपूतों ने भारत के आजादी में अपना अहम योगदान दिया था | 

संतरा दिवस को भारत में काफी हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है इस दिन देश के विभिन्न शहरों में कई प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम होते हैं जिसमें देश के युवा सम्मिलित होते हैं इसके अलावा इंडिया गेट पर भारत के विभिन्न राज्यों के द्वारा स्वतंत्रता दिवस की झांकी प्रस्तुत की जाती है जिसमें सबसे सर्वश्रेष्ठ झांकी प्रस्तुत करने वाले राज्य को केंद्र सरकार के द्वारा पुरस्कृत किया जाता है पिछले साल उत्तर प्रदेश को सर्वश्रेष्ठ स्वतंत्रा दिवस झांकी प्रस्तुत करने के लिए अवार्ड दिया गया था इसके अलावा भारतीय सेनाओं के द्वारा सैन्य शक्ति का प्रदर्शन किया जाता है

ताकि भारत के दुश्मन देशों को मालूम से सकेगी भारत कितना मजबूत और सशक्त देश है और अगर किसी ने भी भारत के ऊपर गलत नजर डालने की कोशिश की तो उसका अंजाम काफी बुरा होगा | स्वतंत्र दिवस के दिन विशेष प्रकार बच्चे कई प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम में सम्मिलित होते हैं और वहां पर नाटक और अपने कविता के माध्यम से देश के सामने अपने विचार प्रस्तुत करते हैं | 

राज्यों में भी स्वतंत्रता दिवस को इसी उत्साह के साथ मनाया जाता है जिसमें राज्यों के राज्यपाल और मुख्यमंत्री मुख्य अतिथी के तौर पर होते हैं। कुछ लोग सुबह जल्दी ही तैयार होकर प्रधानमंत्री के भाषण का इंतजार करते हैं। भारतीय स्वतंत्रता इतिहास से प्रभावित होकर कुछ लोग 15 अगस्त के दिन देशभक्ति से संबंधित फिल्में देखते हैं साथ ही सामाजिक कार्यक्रमों में भाग लेते हैं।

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध 3 (500 शब्द) – स्वतंत्रता दिवस का स्वर्णिम इतिहास (History of Independence day in 500 words 

स्वतंत्रता दिवस का स्वर्णिम इतिहास (History of Indian Independence Day) 

भारत को सोने की चिड़िया कहा जाता था क्योंकि यहां पर काफी पैसा और समय दी थी यही वजह है कि यूरोप के कई देश भारत में आने के लिए रास्ते तलाशने उन्होंने शुरू किए जिसके बाद उन्हें भारत में आने का रास्ता मिल गया शुरुआत के दिनों में उन्होंने भारत में व्यापार करने की नीति अपनाई और धीरे-धीरे अपनी सैन्य ताकत के बल पर उन्होंने भारत के कई राज्यों को अपने कब्जे में ले लिया और देखते-देखते भारत अंग्रेजों का गुलाम हो गया भारत में ब्रिटिश सरकार की आवाज स्थापना के बाद यहां पर लोगों के ऊपर काफी अत्याचार और अन्याय होने लगे कोई भी व्यक्ति अगर उनका विरोध करता तो अंग्रेजों ने जेल में बंद करके रखते हैं

और कई लोगों को तो मौत के घाट उतार दिया जाता था अंग्रेजों का अत्याचार इतना बढ़ गया था कि भारत के रहने वाली जनता उनसे काफी परेशान हो चुकी थी इसके अलावा भारत में कई वीर जवानों ने अंग्रेजी सरकार को उखाड़ फेंकने की कोशिश की और लगातार काम भी करते रहे इसके घर अंग्रेजों ने उन्हें कई प्रकार की यातनाएं दी इसके बावजूद भी देश की आजादी के लिए लगातार काम करते रहे,

यहां तक कि अंग्रेजों ने कई निर्दोष लोगों को गोलियों के द्वारा मौत के घाट उतार दिया था इसका सबसे बड़ा उदाहरण जालियांवाला बाग है जहां पर अंग्रेजी सरकार के जनरल डायर ने कई हजार लोगों को मौत के घाट उतार दिया जलियांवाला बाग हत्याकांड भारत के इतिहास का एक ऐसा काला दिया है जिसके बारे में बात करने से हमारे रोंगटे खड़े हो जाते हैं इस कांड अंग्रेज भारत के लोगों पर किस प्रकार का अत्याचार करते थे

उसका पूरा विवरण आपको जलियांवाला हत्याकांड से मिल जाएगा अंग्रेजों भारत के पैसे को लूट कर विपिन भेजा करते थे इसके अलावा उन्होंने भारत का सबसे कीमती  कोहिनूर हीरा इंग्लैंड लेकर चले गए जो आज की तारीख में इंग्लैंड की महारानी सिर की शोभा बढ़ा रहा है

स्वतंत्रता सेनानियों का आजादी में  क्या योगदान है ?

भारत के आजादी में सभी स्वतंत्रा सेनानियों का योगदान एक समान है सभी लोगों ने अपनी जान की बाजी लगाकर भारत को अंग्रेजो की गुलामी से मुक्त करवाया है उनके योगदान को भूल पाना देश के किसी भी नागरिक के लिए संभव नहीं है हमें ऐसे वीर सेनानियों को शत-शत नमन करना चाहिए जिन्होंने देश की आजादी के लिए अपनी जान निछावर कर दिया,

भारत की आजादी में अगर हम स्वतंत्र सेनानियों की बात करें तो रानी लक्ष्मीबाई तात्या टोपे मंगल पांडे महात्मा गांधी जवाहरलाल नेहरू सुभाष चंद्र बोस चंद्रशेखर आजाद गंगाधर तिलक भगत सिंह बिस्मिल्लाह खान बंकिम चंद्र चट्टोपाध्याय सरदार बल्लभ भाई पटेल जैसे गिर सेनानियों ने देश के आजादी के लिए अपना सब कुछ निछावर कर दिया था भारत के आजादी के लिए कुछ लोगों ने सत्य और अहिंसा का मार्ग अपनाया था और कुछ लोगों ने क्रांतिकारी लेकिन भारत के आजादी है सामूहिक प्रयास से ही प्राप्त हुई है इसलिए हमें उन सभी वीर सेनानियों को सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित करनी चाहिए जिन्होंने देश के आजादी के लिए अपना सर्वस्व बलिदान दिया था,

आजादी का रंगीन पर्व कैसे मनाया जाता है

आजादी का रंगीन बना भारत में काफी हर्षोल्लास और धूमधाम के साथ मनाया जाता है इस दिन बाजारों में रौनक छाई रहती है लोग चारों तरफ आजादी के जश्न में डूबे भक्ति गीत गाते हुए आपको सड़कों पर दिखाई पड़ जाएंगे इसके अलावा इस दिन छोटे बच्चे हाथ में भारत का तिरंगा लिए सड़कों पर भारत माता की जय के नारे लगाते हुए जब आप देखेंगे तो आपको लगेगा कि भारत का भविष्य हमारे सामने चल रहा है क्योंकि छोटे बच्चे भारत का भविष्य हैं |

15 अगस्त के शुभ अवसर पर कॉलेज और स्कूलों में झंडारोहण होने के बाद कई प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होते हैं जिसमें नाटक भारत में वाद विवाद राष्ट्रीय गान जैसे प्रतियोगिता आयोजित होती है इसमें छात्र बढ़-चढ़कर भाग लेते हैं और उन में अच्छा प्रदर्शन करने वाले छात्रों को पुरस्कृत भी किया जाता है इस दिन स्कूलों और कॉलेजों में मिठाइयां वितरित की जाती है |

15 अगस्त को भारत पूरा एकजुट रहता है और सभी लोग स्वतंत्र दिवस के माध्यम से देश के नागरिकों में देशभक्ति की भावना को और भी ज्यादा जागृत किया जाता है ताकि देश के प्रत्येक नागरिक इस बात का प्रण ले सके कि देश से बड़ा कुछ नहीं है | 2023 में भारत अपना 76 स्वतंत्रता दिवस मनाएगा इस बार लाल किले के प्राचीन से देश के प्रधानमंत्री देश को संबोधित करते हुए कुछ विशेष योजनाओं का शुभारंभ देश में कर सकते हैं हालांकि इसके बारे में कोई भी अधिकारिक बयान अभी तक आया नहीं है लेकिन प्रधानमंत्री ने हाल के दिनों में अपने ध्यान से इस बात की चर्चा की है कि देश में बहुत जल्द यूनिफॉर्म सिविल कोड लाया जा सकता है | 

स्वतंत्रता दिवस पर 10 लाइन 

  1. भारत 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ था
  2. भारत इस बार 76  स्वतंत्रा दिवस  मनाएगा
  3. स्वतंत्र दिवस के दिन देश के प्रधानमंत्री लाल किले पर झंडा रोहण करते हैं
  4. स्वतंत्रा दिवस हमारे देश का राष्ट्रीय पर्व है | 
  5. स्वतंत्र दिवस के दिन हम सभी लोग तिरंगे को सम्मान व्यक्त करते हैं
  6. इस दिन राष्ट्रगीत और राष्ट्रगान गाय जाता है
  7. स्वतंत्र दिवस के दिन देश में भिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित होते हैं
  8.  स्वतंत्रा दिवस के दिन राष्ट्रीय अवकाश घोषित किया जाता है
  9. टीवी पर राष्ट्रीय भक्ति संबंधित फिल्में और गाना प्रसारित किया जाता है
  10. स्वतंत्र दिवस हर्षोल्लास और धूमधाम के साथ मनाया जाता है  |

स्वतंत्रता दिवस पर स्टेटस (Independence Day Status In Hindi)- 15 अगस्त पर स्टेटस देखें

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना: 2023 मे किस तरह तरह करें आवेदन

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Exit mobile version