Azadi ka amrit mahotsav essay in hindi

Emka News
16 Min Read

Azadi ka amrit mahotsav essay in hindi, जैसा की आप लोगों को मालूम है कि 15 अगस्त को भारत का स्वतंत्रता दिवस है और इस बार भारत अपना 75 वा स्वतंत्र दिवस मनाएगा  | यही वजह है कि इस बार भारत सरकार ने 15 अगस्त को  अमृत महोत्सव के रूप में मनाने की घोषणा की है  |  यकीनन इस बार का 15 अगस्त हम सभी भारतीयों के लिए खास है | 

inline single

Azadi Ka Amrit Mahotsav 2022) भारत देश में रहने वाले नागरिक और उन जवान सिपाहियों को समर्पित है जो देश की रक्षा के लिए दिन-रात सीमा पर तैनात रहते हैं

 यही वजह है कि भारत सरकार ने आजादी का अमृत महोत्सव के उपलक्ष में कुछ दिन पहले हर घर तिरंगा अभियान की शुरुआत किया था 

 ताकि देश के हर एक नागरिक में देशभक्ति की भावना को जागृत किया जा सके इसलिए 2023 में 15 अगस्त का दिन काफी विशेष रहने वाला है | 

inline single

 ऐसे में अगर आप एक छात्र हैं और आप को आजादी के अमृत महोत्सव पर निबंध लिखने के लिए कहा जाए लेकिन आपको समझ में नहीं आ रहा है क्या आप इस पर एक  बेहतरीन निबंध कैसे लिखेंगे तो आज के आर्टिकल  में हम आपको आजादी अमृत महा उत्सव पर निबंध कैसे लिखेंगे उसकी पूरी प्रक्रिया के बारे में जानकारी देंगे इसलिए आर्टिकल पर बने रहे

मुख्यमंत्री युवा इंटर्नशिप योजना के तहत चयनित उम्मीदवारो की सूची हुयी जारी , इस तरह से करें लिस्ट मे अपना नाम चेक

inline single

आज़ादी का अमृत महोत्सव निबंध (Azadi Ka Amrit Mahotsav Essay in hindi

भूमिका: एक बार का 15 अगस्त भारत में अमृत महोत्सव के रूप में मनाया जाएगा क्योंकि भारत के आजादी के 75 साल पूरे होने वाले हैं यही वजह है कि भारत सरकार के द्वारा घोषणा की गई है कि इस बार 15 अगस्त भारत के लिए अमृत काल  होगा यही वजह है कि देश के प्रधानमंत्री के द्वारा कहा गया है कि भारत इस अमृत काल में तेजी के साथ दुनिया में अपना एक अलग मुकाम बनाने की दिशा में अग्रसर हो रहा है और आने वाला दिन भारत का होगा और भारत आने वाले दिनों में और भी मजबूती के साथ विश्व पटल पर अपनी उपस्थिति दर्ज करवाएगा | 

हम सभी लोगों को मालूम है कि 200 वर्षों तक अंग्रेजी शासन के गुलाम के बाद हमें 15 अगस्त 1947 को आजादी मिली थी और इस आजादी को पाने के लिए ना जाने कितने वीर सपूतों ने अपनी जान की आवती दी थी तब जाकर हमारा देश आजाद हुआ था,

inline single
Azadi ka amrit mahotsav essay in hindi

आज़ादी का अमृत महोत्सव क्या है?

आजादी का अमृत महोत्सव क्या है आप लोगों के मन में सवाल आता होगा तो हम आपको बता दें कि भारत के आजादी के 75 साल पूरे हो चुके हैं इसलिए 2023 में भारत सरकार ने आजादी का अमृत महोत्सव मनाने की घोषणा की है यानी इस बार का 15 अगस्त बहुत ही खास और अलग होने वाला है हम सभी को मालूम है कि हमारा देश 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ था और इसी दिन तिरंगा फहराया गया था

 जिसके बाद से प्रत्येक साल 15 अगस्त को ही भारत में स्वतंत्र दिवस मनाया जाता है हालांकि 2022 में भारत के आजादी के 75 साल पूरे हो गए थे ऐसे में 2023 में हम अपना 76 वर्षगांठ मनाएंगे वां स्वतंत्रता दिवस मनाया जाएगा | 

inline single

 यानी कि हमारा देश स्वतंत्रता के 76वें साल प्रवेश करेगा यही कारण था कि देश के प्रधानमंत्री ने देश को संबोधित करते हुए कहा था कि इस अमृत काल में भारत तेजी के साथ दुनिया के एक मजबूत अर्थव्यवस्था बनने की कतार में आगे बढ़ रहा है और आने वाले जितने भी साल हैं वह भारत का होगा और भारत का विश्व में डंका बजेगा इसलिए प्रधानमंत्री ने घोषणा की कि 2023 में 15 अगस्त अमृत महा उत्सव के तौर पर मनाया जाएगा | 

आजादी के लिए संघर्ष

भारत के आजादी के लिए ना जाने कितने लोगों ने अपनी जान की आहुति दी होगी तब जाकर भारत को 15 अगस्त 1947 को 200 वर्षो की गुलामी के बाद आजादी मिली थी जैसा कि आप लोगों को जानते हैं कि हमारा देश सोने की चिड़िया था लेकिन इसे अंग्रेजों ने लूट कर पिता से कंगाल कर दिया और हमारे ऊपर कई प्रकार के अत्याचार किए जिसके कारण देश के लोगों में अपने देश को आजाद करवाने की एक जिद और जुनून पैदा हुआ था और देश के कई वीर क्रांतिकारी युवकों ने देश के अंदर आजादी की एक लहर का संचार किया जिसके कारण देश के सभी छोटे बड़े बूढ़े बच्चे स्वतंत्रता संग्राम में सम्मिलित हो गए और उन्होंने देश से अंग्रेजों को भगाकर ही दम लिया तब जाकर हमारा देश एक आजाद देश के रूप में विश्व के पटल पर प्रफुल्लित हुआ,

inline single

 हालांकि पहला स्वतंत्रता संग्राम 1857 में हुआ था लेकिन दुर्भाग्यवश संग्राम विफल साबित हुआ इसके बाद 1947 में भारत में स्वतंत्रता संग्राम का बिगुल फूंका गया और इस बार सभी लोगों ने मिलकर अंग्रेजो के खिलाफ लड़ाई लड़ी जिसमें हमें सफलता प्राप्त हुई और हमें अंग्रेजों की गुलामी से मुक्ति मिले | 

आजादी अमृत महोत्सव मनाने उद्देश्य

अमृत महोत्सव मनाने का प्रमुख उपदेश देश के नागरिकों में देशभक्ति की भावना का संचार करना है और उन्हें इस बात को याद दिलाना है कि इस देश को आजाद करने के लिए ना जाने कितने लोगों ने अपने खून की आहुति दी थी.

inline single

 तब जाकर आज हम चैन की सांस अपने घरों में ले रहे हैं और स्वतंत्र की हवा में जी रहे हैं इसलिए इस दिन हम उन सभी वीर जवानों को सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे जिन्होंने देश की आजादी के लिए अपना सर्वस्व बलिदान दे दिया था

 यही कारण है कि देश के प्रधानमंत्री ने इस बार 15 अगस्त को अमृत महोत्सव के रूप में मनाने की अपील देश की जनता से की है ताकि अधिक से अधिक लोग इस मुहिम में सम्मिलित होकर इस बार 15 अगस्त को अमृत महोत्सव के रूप में मनाए.

inline single

आजादी अमृत महोत्सव  महत्त्व

अमित महा उत्सव का महत्व इस बार बहुत ही ज्यादा है और इस बार हम सभी लोग अपने सच्चे वीर सपूतों और क्रांतिकारी स्वतंत्रता सेनानियों को याद करेंगे जिन्होंने देश के आजादी में अपना सर्वस्व निछावर किया इस दिन देश में कई प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे जिसके माध्यम से आजादी के संघर्ष की कहानी घर घर तक पहुंचाया जाएगा ताकि देश के युवा और बच्चे इस कहानी से प्रेरित होकर देश के लिए उनका क्या कर्तव्य है उसका निर्वाह ईमानदारी के साथ कर सके | 

आजादी अमृत महोत्सव का कार्यक्रम

अमृत अमावस के दिन देश में विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे जिसमें छोटे से लेकर बड़े सभी लोग सम्मिलित होंगे और साथ में लोगों को अमृत महोत्सव क्यों मनाया जा रहा है उसके बारे में भी जानकारी प्रदान करनी है इस दिन अमृत महोत्सव के दिन भाषण निबंध नाटक वाद विवाद जैसी प्रतियोगिता आयोजित किए जाएंगे जिनमें बच्चे सम्मिलित होंगे और प्रथम पुरस्कार पाने वाले बच्चों को पुरस्कृत किया जाएगा क्योंकि आप लोगों को मालूम है कि आज के बच्चे कल के भविष्य हैं ऐसे में उनके अंदर देशभक्ति की भावना का बीज अंकुरित करना हम सभी का कर्तव्य तभी जाकर देश के विकास में अपनी भूमिका का निर्वाह ईमानदारी और कर्तव्यनिष्ठा के साथ कर पाएंगे | 

inline single

आजादी का अमृत महोत्सव कब से कब  है

देश के प्रधानमंत्री जी के द्वारा अमृत महोत्सव मनाने का निर्णय लिया गया था और इसकी शुरुआत 12 मार्च 2021 से की गई थी और इसका समापन 15 अगस्त 2023 को किया जाएगा यही वजह है कि कुछ दिन पहले देश में हर घट तिरंगा अभियान की भी शुरुआत की गई थी जिसके माध्यम से देश के निवासियों में देशभक्ति की भावना को जागृत करना था इस अभिमान में देश के सभी बड़े मंत्री और सांसद सम्मिलित हुए थे और बाइक पर हर घर तिरंगा अभियान की शुरुआत की गई थी कई लोगों ने अपने घर में भी तिरंगा फहराया था | 

 200 वर्षों के कड़े संघर्ष और सैकड़ों आंदोलन के बाद मिली आजादी का यह महोत्सव 75 हफ्तों तक मनाया जायेगा।

inline single

आजादी का अमृत महोत्सव की थीम क्या है?

आजादी के अमृत महोत्सव की कुल पांच थीम हैं, जिसका विवरण हम आपको नीचे दे रहे हैं आइए जानते हैं-

  • स्वतंत्रता संग्राम (Freedom Struggle)
  • विचार 75 (Ideas@75)
  • संकल्प 75 (Resolve@75)
  • एक्शन 75 (Action@75)
  • उपलब्धियां 75 (Achievements@75

उपसंहार

जय भारत वर्ष में आजादी का अमृत महोत्सव हर्षोल्लास और धूमधाम के साथ मनाया गया केवल एक अभियान नहीं है बल्कि इसके माध्यम से देश के प्रत्येक नागरिक के अंदर देशभक्ति की भावना को जागृत किया जाएगा क्योंकि हमारे देश में कई ऐसे लोग हैं जो अशिक्षा के कारण देशभक्ति की भावना से काफी दूर हो चुके हैं ऐसे में उन्हें भी इससे अभियान के द्वारा जोड़ा जाएगा

inline single

और साथ में उन्हें बताया जाएगा कि किस प्रकार हमारे देश को आजादी मिली है और उसको पाने के लिए ना जाने हमने कितनी कुर्बानियां दी हैं इसके अलावा सरकार इस दिन कई प्रकार की योजनाओं की घोषणा भी करेगी ताकि उन योजनाओं का लाभ जरूरतमंद लोगों तक पहुंच सके और देश की उन्नति में उनका क्या कर्तव्य उसके बारे में भी जानकारी अमृत महोत्सव के माध्यम से दिया जाएगा.

Azadi Ka Amrit Mahotsav Poem in hindi

 बात है अलग इस धरती की ,

inline single

यहाँ जन्मते वीर सपूत हैं। 

दे देते है आहुति प्राणों की ,

inline single

किन्तु बनते नहीं कपूत हैं ।।1।।

जगह कोई भी हो ,

inline single

हर कोने से लोग आगे आए ।।2।।

स्वतंत्रता आंदोलन में ,

inline single

सबने अपने कर्त्तव्य निभाए।

कैसे भूल जाऊँ मैं रानी लक्ष्मी बाई ,

अंग्रेजों से लोहा लेने वो खुद आने आई ।

आक्रांत उसके आगे न हो सके खड़े ,

अंग्रेजों को लोहे के चने चबाने पड़े।।3।।

आजादी के रण में ,

जब आए महात्मा गांधी ।

चला दी उन्होंने हर भारतीय के हृदय में

 देशभक्ति की आँधी ।।4।।

हत्याएं हुई थी कहीं जगह ,

कहीं लगी थी आग ।

चौकी चौरा हो या फिर ,

 हो जलियांवाला बाग ।।6।।

बना के हिंद फौज सुभाष ने,

 फ़ौजी भरपूर तैयार किए ।

भर दी उनके दिलों में नेताजी ने ,

अपार ममता भारत के लिए ।।7।।

चाहे हो नेहरू शास्त्री 

या हो अंबेडकर।

हम नहीं चुका सकते 

इनका कर  ।।8।।

मत भूलो लौह पुरुष की राष्ट्रभक्ति को,

जिसने राजे रजवाड़ों को एक किया ।

राजाओ को हराकर ,

भारत के राज्यों को एक सूत्र में बांध दिया।।9।।

याद करो बलिदानों को ,

जो वीरो ने खूब दिए ।

लड़ लड़ कर अंग्रेजों से

उनके सपने चकनाचूर किये ।।10।।

बन जाओ राणा प्रताप से ,

तोड़ दो सारे बंधनों को ।

उठो खड़े हो स्फूर्ति से ,

देश प्रगति में अग्रसर हो ।।11।।

                               जय हिंद

Azadi Ka Amrit Mahotsav slogon

गली गली में हम तिरंगा लहराएगें,

आजादी का पर्व हम शान से मनाएगें.

मिलकर आजादी अमृत महोत्सव

मनायेंगे,देश को अपने श्रेष्ठ बनायेंगे।

ये आन तिरंगा है ये शान तिरंगा है

अरमान तिरंगा है अभिमान तिरंगा है

मेरी जान तिंरगा है. हर घर तिरंगा.

हम सभी ने मिलकर ठाना है,

ऐसा नशा ही कुछ हिंदुस्तान की शान का हैं।

आजादी का अमृत महोत्सव की शुभकामनाएं..

 ऐसे कई दीवाने देखे, जिनको देश प्यारा है

कश्मीर से कन्या कुमारी, सारा देश हमारा है।

अभी तो आगे भी बढ़ना है, संकल्प हमारा न्यारा है

वीरों कस लो कमर कि मां भूमि ने तुम्हें पुकारा 

एक महोत्सव देश के त्याग और बलिदान का

एक महोत्सव देशभक्ति की भावना के अनुराग का

आजादी का अमृत महोत्सव देश की वीरों के बलिदान का।

आजादी का उत्सव है ये, मिला बड़े बलिदानों से

मातृ भूमि के लिए मिटे, जो मिला उन्हीं दीवानों से।

आओ याद करें उन सबको, नमन और वंदन करते

हमे मिली आजादी जो, उनके बलिदानो से ।

मेरा देश, मेरा वतन, मेरा यह चमन,

शांति के, उन्नति के उद्देश्य को नमन ।

किसने बदला पथ प्रगति और विकास का,

बदल दिया रुख, धरती और आकाश का ।

आओ झुक कर सलाम करे उन्हें,

जिनकी ज़िन्दगी में ये मुकाम आया है,

किस कदर खुशनसीब है वो लोग,

जिनका लहू भारत देश के काम आया है,

आजादी का अमृत महोत्सव की हार्दिक शुभ कामनायें

आजादी का अमृत महोत्सव है अमूल्य रत्न

इसे मिलकर सभी मनाने का करे प्रयत्न ।

आजादी के इस उत्सव को हमें मनाना है,

पर सबसे पहले नवयुवकों को चेताना है ।

देश में फैले भ्रष्टाचार, नफरत को मिटाना है

मानव धर्म सबसे बड़ा है सबको ये समझाना है ।

नारी से नारायण है इसको सम्मान दिलाना है ।

एकता और अनुशासन से भारत माता की सब मिल जयकार करें

विश्व गुरु बन उभरे भारत फिर मिलकर कुछ ऐसा सहकार करें ।

आजादी का 75वे साल पर अमृत महोत्सव मिलकर करे ।

 आन देश की शान देश की,

देश की हम संतान हैं,

तीन रंगों से रंगा तिरंगा,

अपनी ये पहचान है !

bal diwas par kavita

बड़ी ई की मात्रा वाले शब्द और वाक्य (Badi Ee Ki Matra Wale Shabd Aur Vakya) 

Share This Article
Follow:
Emka News पर अब आपको फाइनेंस News & Updates, बागेश्वर धाम के News & Updates और जॉब्स के Updates कि जानकारी आपको दीं जाएगी.
1 Comment