Virtual Reality क्या है और कैसे काम करता है

15 Min Read
Virtual Reality क्या है और कैसे काम करता है

Virtual Reality क्या है और कैसे काम करता है टॉपिक ऑन इंटरनेट पर सर्च कर रहे हैं तो हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी देंगे इसलिए आपसे निवेदन है कि आप आर्टिकल को आखिर तक पढ़ेंगे तो आपको पूरी बात समझ में आ जाएगी

जैसा कि आप लोग जानते हैं कि दुनिया तेजी के साथ आधुनिक कला की तरफ बढ़ रहा है और ऐसे में आज का समय डिजिटल तकनीकी का समय है ऐसे में आप लोगों ने वर्चुअल रियलिटी शब्द बहुत ज्यादा सुना होगा जिसकी चर्चा आज के समय बहुत ज्यादा हो रही है

आप लोगों ने 3D फिल्म जरूर देखा होगा अगर नहीं देखा है तो आप आज ही देख ले उस फिल्म को जब आप देखेंगे तो आपको ऐसा लगेगा कि जो चीजें आप देख रहे हैं वह आपके आसपास ही घटित हो रही है

उसी को हम लोग वर्चुअल रियलिटी कहते हैं अगर आप इसके बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं तो हम आपसे निवेदन करेंगे कि हमारे साथ आर्टिकल पर आखिर तक बने रहे हैं चलिए शुरू करते हैं- 

Virtual Reality क्या है? 

चल रिजल्ट कंप्यूटर तकनीक के द्वारा निर्मित की गई एक ऐसी काल्पनिक दुनिया है जिसे देखने के बाद आपको लगेगा आप जो देख रहे हैं वह वास्तविकता है लेकिन हम आपको बता दें कि आप बिल्कुल काल्पनिक है

आप जब सिनेमाघर में 3डी फिल्म देखने के लिए जाएंगे तो आपको देखकर ऐसा लगेगा कि आप के आस पास ही वह घटना घटित हो रही है जो फिल्में दिखाई जा रही है लेकिन हम आपको बता दें कि आप जो देख रहे हैं वह बिल्कुल काल्पनिक है

और इसे वास्तविकता बनाने के लिए ही वर्चुअल रियलिटी का इस्तेमाल होता है वर्चुअल रियलिटी दो शब्दों से मिलकर बना हुआ है यहां पर  वास्तविकता’. एक ऐसा अनुभव जो बिल्कुल सत्य जैसा प्रतीत होता है.

इसे महसूस करने के लिए हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया जाता है उस के माध्यम से ही इसे बनाया जाता है

Virtual Reality क्या है और कैसे काम करता है

Virtual Reality की विशेषताएं 

वर्चुअल रियलिटी के निम्नलिखित प्रकार की विशेषता होती है जिसका विवरण हम आपको नीचे बिंदु अनुसार देंगे आइए जाने

  • वर्चुअल रियलिटी तकनीक को देखने के लिए आपको helmet mounted display और data gloves पहना होगा 
  • कंप्यूटर बातचीत करने के लिए भी बटवा जल्दी का इस्तेमाल होता है I 
  • हुमन कंप्यूटर का आप लोगों ने नाम सुना होगा हुमन कंप्यूटर में आप  देखना, सुनना, छूना इत्यादि को वर्चुअल के रूप में प्राप्त कर सकते हैं जो आपको ऐसा प्रतीत होगा की वास्तविकता है
  • ग्राफिक बनाने के लिए आज के समय वर्चुअल रियलिटी का इस्तेमाल होता है I 
  • इसके माध्यम से आप बेहतरीन काल्पनिक दुनिया निर्मित कर सकते हैं जो जो देखने में बिल्कुल आपको सच दिखाई पड़ेंगे लेकिन वह काल्पनिक होगी I 

Virtual Reality में इस्तेमाल होने वाले यंत्र कौन-कौन से हैं

वर्चुअल रियलिटी के अंतर्गत लेकिन प्रकार के यंत्र का इस्तेमाल होता है जिसका विवरण हम आपको नीचे दे रहे हैं

Computer Hardware और Software

वर्चुअल रियलिटी को संचालित करने के लिए हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर की जरूरत पड़ती है इसके बिना इसे आप ऑपरेट नहीं कर सकते हैं कंप्यूटर और लैपटॉप में भी वर्चुअल रियलिटी देख सकते हैं

उदाहरण के लिए अगर आपने VR Headset पहन रखा है और आप बाएं तरफ देखते इस बात की सूचना आपको आसानी से मिल जाएगी कि आप लेफ्ट साइड की तरफ देख रहे हैं क्योंकि सिस्टम ही आपको बता देगा

Input Devices

इनपुट डिवाइस के माध्यम से आप वर्चुअल रियलिटी को वातावरण के साथ navigate और interact कर सकते हैं उदाहरण के लिए  joysticks, motion trackers, sensing gloves, track pads, device control buttons, treadmills इत्यादि

इन सभी डिवाइस के माध्यम से आप अपने जीवन के सभी महत्वपूर्ण पाल और उनकी गतिविधियों को आसानी से डाटा के रूप में स्टोर कर सकते हैं ताकि भविष्य में जब इसकी जरूरत पड़े तो आप आप उस का आनंद उठा सके

उदाहरण के तौर पर  आप हाथ का हिलना और आँखों के पलकों का झटका ना इत्यादि इन सभी चीजों को आप आसानी से स्टोर कर सकते हैं I 

VR Box/Headset

वर्चुअल रियलिटी के क्षेत्र में इसका काफी है मस्तान है इसका प्रयोग तब होता है जब आप कोई भी 3D फिल्म देखेंगे इसे आप बाइक के हेलमेट की तरह पहनेंगे अगर आप 3D संबंधित कोई भी चीज देखना चाहते हैं

तब आप उसको इस्तेमाल करेंगे आप जब कोई भी 3D फिल्म या एनिमेशन से जुड़ी चीजें देखेंगे तो आपको देखकर ऐसा लगेगा कि आपके आसपास का वातावरण बिल्कुल ऐसा है जैसा आप फिल्म में देख रहे हैं I 

3D Audio

जब आप कोई भी 3D चीज देखते हैं तो उसका ऑडियो भी 3D की तरह होता है इसके अंतर्गत जब आप कोई भी चीज 3D के फॉर्मेट में देखेंगे तो उसका ऑडियो आपको महसूस होगा जैसे लगेगा कि आप के बगल में कोई व्यक्ति बैठा आपसे बातचीत कर रहा है आज सुनने में बिल्कुल आपको वास्तविकता की तरह लगेगा लेकिन हम आपको बता दें कि आवाज भी काल्पनिक होती है जो उपयोगकर्ता की दूरी, मूवमेंट्स, समय और दूसरे factors के आधार पर generate होता है.

Virtual Reality कितने प्रकार के होते हैं 

वर्चुअल रियलिटी निम्नलिखित प्रकार के होते हैं जिसका विवरण हम आपको नीचे बिंदु अनुसार देंगे देंगे आइए जानते हैं- 

Non-immersive Virtual Reality

इसके अंतर्गत एक सॉफ्टवेयर के माध्यम से कुछ विशेष करैक्टर और उसको गतिविधियों को कंट्रोल किया जाता है उदाहरण के लिए जब आप कोई वीडियो गेम खेलते हैं तो उसमें कितने प्रकार के करैक्टर होते हैं और उन सभी करैक्टर को आप आसानी से कंट्रोल कर पाते हैं उसके लिए Non-immersive virtual reality कमाल होता है

 आज की तारीख में जितने भी बेसिक गेम डिवाइस हैं उनमें इस का ही प्रयोग होता है जैसे  Playstation, Xbox, Computer इत्यादि आपको non-immersive virtual reality का अनुभव प्रदान करते हैं.

Fully-immersive Virtual Reality

इस प्रकार के वर्चुअल रियलिटी में  आपको लगेगा कि आप वास्तविक वातावरण में उपस्थित है और उसका आनंद ले रहे हैं लेकिन हम आपको बता दें कि वह बिल्कुल काल्पनिक दुनिया होती है

आप उस दुनिया में जब जाएंगे तो आपके आसपास की सभी चीजें आपको सचमुच की दिखाई पड़ेंगे लेकिन कुछ ही समय बाद आपको इस बात का एहसास हो जाएगा कि आप एक नकली दुनिया में चले गए हैं इन सब चीजों को करने के लिएFully-immersive Virtual Reality इस्तेमाल किया जाता है I 

इसके अंदर helmets, sense detectors, gloves और body connectors शामिल होते हैं. इन सभी को एक पावरफुल कंप्यूटर के द्वारा जोड़ दे जाता है और उसके बाद जो भी गतिविधियां और प्रतिक्रिया होती है उसे डाटा के रूप में यहां पर स्टोर किया जाता है

जिसके बाद आप एक काल्पनिक दुनिया में पहुंच जाएंगे और आप उसकी दुनिया को सचमुच दुनिया मानेंगे लेकिन बिल्कुल गलत है क्योंकि उस दुनिया का वास्तविकता से दूर दूर तक कोई संबंध नहीं है

Semi-immersive Virtual Reality

यह non-immersive और fully immersive virtual reality का मिश्रण है. इसका असर ऊपर शिर्डी कितना है जब आप इसे देखेंगे तो आपको लगेगा कि आप सचमुच का कोई चीज देख रहे हैं

लेकिन हम आपको बता दें कि हुआ चीज काल्पनिक होगी लेकिन आपका अनुभव सचमुच का होगा इसे अपने कंप्यूटर पर माउस की मदद से और मोबाइल पर टच और wipe की मदद से ऑपरेट कर सकते हैं

Augmented Reality

इसके अंतर्गत कोई भी वस्तु और डिवाइस असल में मौजूद है आपको एहसास होगा लेकिन हम आपको बता दें कि वह आपकी केवल एक काल्पनिक धारणा होगी उदाहरण के तौर पर आप अपने घर के पूरा तस्वीर आप देख सकते हैं और आप चाहे तो उस कमरे में दूसरी चीज यानी टेबल पंखा भी आप दिखा सकते हैं

इसके लिए आपको इस वर्चुअल रियलिटी का इस्तेमाल करना होगा जबकि हकीकत यह है कि आपके कमरे में ऐसी कोई चीज नहीं थी लेकिन आपने इस तकनीकी के इस्तेमाल से लोगों को विश्वास दिला दिया कि आपके कमरे में टेबल या पंखा मौजूद है

Collaborative Virtual Reality

इस प्रकार की दुनिया में एक समय में कई लोग एक दूसरे के संपर्क में आ सकते हैं उदाहरण के लिए आप लोगों ने पब्जी वीडियो गेम का नाम जरूर सुना होगा जिसमें हजारों लोग एक साथ इस गेम को खेलते हैं

और एक दूसरे से बातचीत भी करते हैं उन सभी चीजों को संचालित करने के लिए Collaborative Virtual Reality का इस्तेमाल किया जाता है

Virtual Reality के उपयोग 

 वर्चुअल रियलिटी का इस्तेमाल निम्नलिखित प्रकार के क्षेत्रों में किया जा रहा है जिसका विवरण हम आपको नीचे बिंदु अनुसार देंगे आइए जानते हैं-

शिक्षा के क्षेत्र में

शिक्षा के क्षेत्र में भी आज तेजी के साथ वर्चुअल रियलिटी का इस्तेमाल होता है ताकि शिक्षा को आधुनिक और उन्नत बनाया जा सके उदाहरण के लिए पायलट ट्रेनिंग स्पेस ट्रिप, पैराशूट से जंपिंग, ब्रेन सर्जरी इत्यादि छात्रों को सिखाने के लिए वर्चुअल रियलिटी का इस्तेमाल होता है

Virtual Reality क्या है और कैसे काम करता है

मेडिकल क्षेत्र में 

मेडिकल के क्षेत्र में भी आज के समय वर्चुअल रियलिटी का इस्तेमाल होता है कई प्रकार के गंभीर बीमारी के उपचार के लिए भी डॉक्टर इसका इस्तेमाल करते हैं ताकि लोगों को गंभीर बीमारी से बचाया जा सके  इसके अलावा जितने भी सर्जिकल ऑपरेशन होते हैं उनमें मरीज को दर्द ना हो उसके लिए जो तकनीक प्रयोग में लाई जाती है उसका निर्माण इसके माध्यम से ही किया जाता है I 

मेडिकल के क्षेत्र में जो छात्र ट्रेनिंग प्राप्त कर रहे हैं उनके लिए भी या तकनीक काफी सहायक होगी क्योंकि अगर वह इस तकनीक को सीख जाते हैं तो उन्हें अपने मेडिकल के क्षेत्र में काफी सहायता मिलेगी.जब वह पूरी तरह से सीख जाए तो इसका प्रयोग मरीजों को पर आसानी से कर पाएंगे 

Military क्षेत्र में

आज के समय सभी देश अपने मिलिट्री क्षेत्र मे वर्चुअल रियल्टी का इस्तेमाल कर रहे हैं ताकि अपने सेना को आधुनिक और सशक्त बनाया जा सके इसका प्रयोग मिलिट्री की सभी सेवाएं जैसे आर्मी नेवी एयर फोर्स

 marines और coast guard में किया जाता है. आज के समय अगर कोई देश अपनी सेना को आधुनिक नहीं बनाता है तो उसे युद्ध के समय काफी दिक्कत और परेशानी का सामना करना पड़ेगा यही वजह है

कि आज के समय सेना इसका उपयोग आभासी उड़ान, आभासी युद्धक्षेत्र, चिकित्सा प्रशिक्षण और आभासी बूट शिविर जैसी चीजों के लिए करती है, इसकी मदद से किसी सैनिक को बिना जोखिम के ट्रेनिंग दी जाती है I

Jio 5G कहाँ कहाँ चालू हुआ ? | Jio 5G Launch Cities लिस्ट

hindi text को image पर कैसे लिखें 2023

Fashion के क्षेत्र में

आज दुनिया की सभी बड़ी कंपनियां अपने प्रोडक्ट को वर्चुअल रियलिटी के माध्यम से कस्टमर के सामने प्रस्तुत करती हैं इसे देखने के बाद कस्टमर को लगता है कि वह सचमुच का प्रोडक्ट देख रहा है जबकि प्रोडक्ट ऑनलाइन तरीके से आपके सामने प्रस्तुत किए जाते हैं

इसके अलावा कुछ कंपनी के प्रोडक्ट तो आप ट्राई भी कर सकते हैं आज की तारीख में कुछ मशहूर brand  Hilfiger, Coach और Gap इसका प्रयोग करती हैं I 

Games और Entertainment के लिए 

आज गेम्स और इंटरटेनमेंट के क्षेत्र में भी वर्चुअल रियलिटी का इस्तेमाल हो रहा है आज कई लोग जब कोई गेम खेलते हैं तो उन्हें लगता है कि वह सचमुच वास्तविकता का गेम खेल रहे हैं I . युवाओं में इस तरह के गेम के प्रति झुकाव बढ़ता ही जा रहा है और VR तकनीक के साथ गेम की demand भी बढ़ रही है.

Virtual Reality कैसे बनाए जाते हैं

वर्चुअल रियलिटी बनाने के लिए दो प्रकार के संसाधनों का इस्तेमाल किया जाता है जिसका विवरण हम आपको नीचे बिंदु अनुसार देंगे आइए जाने – 

Real World 3D Content  के लिए एक 360 camera, photogrammetry और अन्य methods का इस्तेमाल किया जाता है.

 Computer Software Generated 3D Content के लिए Cryengine, Tvori, Unreal और Unity जैसे programs का इस्तेमाल किया जाता

[sp_easyaccordion id=”31191″]

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Exit mobile version