इंडियन ओवरसीज बैंक का कर्ज महंगा: रेपो रेट बढ़ने के बाद बैंक ने दिया झटका, कितनी बढ़ गई EMI

Emka News
5 Min Read
Sbm Bank के तहत कार्यवाही Rbi द्वारा

इंडियन ओवरसीज बैंक का कर्ज महंगा, रेपो रेट बढ़ने के बाद बैंक ने दिया झटका, कितनी बढ़ गई EMI

inline single

आइये हम इस आर्टिकल के माध्यम से जानेंगे की  Rbi द्वारा बढ़ाये जाने की बजह से इंडियन ओवरसीज बैंक ने  कर्ज कितना महंगा कर दिया है और बैंक ने कितनी Emi बढ़ा दी है। ओवर सीज बैंक की इस प्रकार की जानकारी को हम इस आर्टिकल द्वारा विस्तार से जानेंगे 

रिज़र्व बैंक की पॉलिसी मीटिंग 7 दिसंबर को हुई जिसमें रेपो रेट में 0.35 प्रतिशत बढ़ाने का फैसला किया गया। जिसे देखते हुए इंडियन ओवरसीज बैंक ने MCLR दरों में 35 पॉइंट्स तक बढ़ाने का निर्णय लिया और इस बैंक ने MCLR की दरों में 35 पॉइंट्स को बढ़ा दिया  है।

इसके साथ ही इंडियन ओवरसीज बैंक ने अपनी RLLR दरों में भी कुछ बदलाव किया है। जिससे इस बैंक की EMI में बड़ोंत्तरी हो गई है।

inline single

लोन की दरों को बढ़ाया ओवर सीज बैंक ने 

इंडियन ओवरसीज बैंक ने MCLR और RLLR की दरों में लगभग 35 पॉइंट्स तक की बढ़ोतरी की गई है। बैंक की MCLR और RLLR की नई दरें 10 दिसम्बर से लागू की जायेगी। ओवरसीज बैंक की दरों में बदलाव होने के साथ ही ओवरसीज बैंक के शेयरों में भी बढ़त देखने को मिली है। 

रिजर्व बैंक द्वारा रेपो रेट बढ़ाने के  बाद पब्लिक सेक्टर के इंडियन ओवरसीज बैंक (IOB) ने लोन की दरों बदलाव कर दिया है। मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स बेस्ड लैंडिंग रेट (MCLR) और रेपो-लिंक्ड लेंडिंग रेट (RLLR) में परिवर्तन कर दिया है।

inline single

इस बैंक लोन EMI बढ़ने से लोगों के मनोभाव में बदलाव देखने को मिल सकता है। इंडियन ओवरसीज बैंक की नई लोन दरें 10 दिसंबर से लागू हो जायेंगी। इससे  लोन की ईएमआई आगे बढ़ने की संभावना दिखाई दे रही है।

रिज़र्व बैंक की पॉलिसी मीटिंग में जोकि 7 दिसंबर को हुई थी। जिसमें रेपो रेट में 0.35 प्रतिशत की बढ़ोतरी का निर्णय फैसला किया गया है। रिजर्व बैंक इस फैसले को देखते हुए इंडियन ओवरसीज बैंक ने MCLR की दरों में 35 पॉइंट्स तक की बड़ोंत्तरी की है। इसके साथ ही ओवरसीज बैंक ने  RLLR दरों में भी बदलाव किया है।

inline single

Electric Charging Station in India 2023 | इलेट्रिक चार्जिंग स्टेशन (EV) इन इंडिया

DIGITAL E-RUPEE के फायदे एवं नुकसान 2023

ओवरसीज बैंक का एमसीएलआर अब कितना होगा 

इंडियन ओवरसीज बैंक की रेग्युलेटरी लोन दरों के अनुसार 1 साल की MCLR दर को 20 प्वाइंट बढ़ा दिया है। जो दरें पहले 8.05 प्रतिशत थी जो अब बढ़ाकर 8.25 प्रतिशत तक  कर दिया है।

जबकि 2 साल की MCLR दर जो कि 8.10 प्रतिशत हुआ करती थी जो अब 25 पॉइंट्स बढ़ाकर 8.35 प्रतिशत कर दिया है। वहीं 3 साल की MCLR दर को 10 दिसंबर से 30 पॉइंट्स की बढ़ोतरी के साथ पहले की दर 8.10 प्रतिशत थी जो अब 8.40 प्रतिशत हो जाएगी।

inline single
RBI imposes monetary penalty on Indian Overseas Bank

छोटी अवधि के लिए MCLR की नई दरें

इंडियन ओवरसीज बैंक ने छोटी अवधि के लिए MCLR की दरों को भी बढ़ा दिया है। छह महीने की अवधि के लिए जो दर 7.95 प्रतिशत थी जो अब 20 पॉइंट्स की बढ़ोतरी से दर 8.15 प्रतिशत हो गई है।

जबकि तीन महीने के लिए MCLR की दर 15 पॉइंट्स बढ़ाकर दर 7.85 प्रतिशत से जो अब 8 प्रतिशत कर दिया है। इसी तरह 1 महीने की अवधि के लिए भी MCLR की दर को 20 पॉइंट्स बढ़ाकर दर 7.50 प्रतिशत से बढ़ाकर अब 7.70 प्रतिशत कर दिया  है।

inline single

ओवर सीज बैंक की दरें बढ़ने के साथ ही बैंक के शेयरों में बढ़त देखने को मिल रही है। इंडियन ओवरसीज बैंक ने बुधवार को MCLR और RLLR दरों को बढ़ाने की घोषणा की है। ओवरसीज बैंक ने RLLR की दरों को बढ़ाकर 9.107 कर दिया है।

 पहले ये दरें अब 6.25 प्रतिशत थी। जो अब से बढ़कर 9.10 प्रतिशत हो गई हैं। नई दरें 10 दिसंबर से लागू की जायेगी। ओवर सीज बैंक की दरों में बढ़ोतरी के साथ ही इसके शेयरों में बढ़त को देखा गया है।

inline single

बीएसई पर ओवर सीज बैंक का स्टॉक 4.57 प्रतिशत से बढ़कर 24.05 रुपये पर बंद हुआ था स्टॉक अपने 52 हफ़्तों के रिकॉर्ड हाई रिकार्ड पर पहुंच गया है जो कि अभी 24.85 रुपये है ओवर सीज बैंक का वर्तमान शेयर मार्केट में शेयर 45,460 करोड़ रुपये से भी अधिक है।

Share This Article
Follow:
Emka News पर अब आपको फाइनेंस News & Updates, बागेश्वर धाम के News & Updates और जॉब्स के Updates कि जानकारी आपको दीं जाएगी.
Leave a comment