बागेश्वर सरकार और करौली सरकार दोनों मे कौन है ज्यादा शक्तिशाली, जानिए यहाँ खबर 

बागेश्वर सरकार और करौली सरकार दोनों मे कौन है ज्यादा शक्तिशाली, जानिए यहाँ खबर

जैसा की दोस्तों हम सबको पता ही है की आज कल बागेश्वर सरकार पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री जी अपने चमत्कारो को लेकर कितने प्रसिद्ध हो रहे है। उनकी लोकप्रियता दिन प्रति दिन लगातार बढ़ती है जा रही है उनकी लोकप्रियता का बढ़ने के पीछे की मुख्य वजह यह बताई जाती है की वह पीड़ित व्यक्तियों की अर्जी स्वीकार करते है और उनके मन की बात मतलब की जो उस व्यक्ति की परेशानी होती है उनको एक पर्चे पर लिख देते है वह सिर्फ उन परेशानियों को लिखते बस नहीं है बल्कि उन परेशानियों को दूर भी करते है और उनके द्वारा इसके लिए किसी प्रकार की फीस या शुल्क नहीं लिया जाता है।

लेकिन हम आपको बता दें की जब से बागेश्वर सरकार पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री जी का दिव्य दरबार लोगो के बीच मे एक चर्चा का विषय बना है उसके बाद से ही हमने यह देखा है की अनेक बाबा ऐसे आ रहे है जो इस प्रकार से दरबार लगाकर धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री के जैसे लोकप्रियता प्राप्त कर रहे है। जिनमे से एक है कानपुर के करौली बाबा करौली बाबा भी धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री की तरह दरबार लगाते है और लोगो की समस्याओ को दूर करते है,

तो चलिए सबसे पहले जान लेते है कौन करौली बाबा कानपुर के रहने वाले करौली बाबा एक कानपुर मे लोगो के बीच एक महान संत है उनका कानपुर मे लगभग 14 एकड़ से अधिक की जगह मे एक आश्रम है जहाँ वह हवन और पूजा पाठ भी करवाते है। करौली बाबा के नाम पहले से कई मामलो मे अपराधीक मुकदमे दर्ज है 1992 मे उनके ऊपर हत्या करने का आरोप भी लगाया गया था। उसके बाद वह एक किसान नेता भी बन गये और वर्तमान मे अभिषेक एक संत मे रूप मे लोगो के बिच बने हुए है।

बागेश्वर सरकार और करौली सरकार
बागेश्वर सरकार और करौली सरकार

बागेश्वर सरकार और करौली सरकार मे तुलना

बागेश्वर सरकार और करौली सरकार मे तुलना करना या फिर या बताना की दोनों मे से कौन ज्यादा शक्तिशाली है यह बता पाना इतना आसान नहीं है लेकिन हम आपको दोनों संतो के बारे मे कुछ बाते बता देते है जिससे आप स्वयं इस बात का आकलन लगा सकते है की दोनों संतो मे से कौन ज्यादा दयालु और शक्तिशाली है चलिए जानते है।

करौली सरकार बागेश्वर सरकार 
करौली सरकार के दरबार मे मुर्दो को जिन्दा करने दावा किया जाता है।जबकि बागेश्वर सरकार के दरबार मे इस प्रकार का कोई भी चमत्कार करने का दावा नहीं किया जाता।
करौली सरकार के दरबार मे 3 इंच तक लम्बाई बढ़ाने के चमत्कार किये जाते है।जबकि बागेश्वर सरकार के दरबार मे ऐसा कोई चमत्कार नहीं होता है।
करौली सरकार के दरबार मे 100 रूपये क रजिस्ट्रेशन चार्ज लिया जाता है।जबकि बागेश्वर सरकार का दरबार पूरी तरह से निशुल्क है।
करौली सरकार के पुरे हवन और पूजा पाठ का खर्चा करीब 1 लाख 50 हजार है।जबकि बागेश्वर सरकार के धाम मे पूजा पाठ का कार्य पूरी तरह से निःशुक है 
करौली सरकार का दरबार अधिकतर कानपुर मे ही लगता है।जबकि बागेश्वर सरकार का दरबार देश मे कई जगह जहाँ पर भी कथा करने जाते है वह पर कम से कम 2 दिन का दरबार लगता है।
बागेश्वर सरकार और करौली सरकार

बागेश्वर धाम को कौन सी ट्रेन जाती है?

Bageshwar dham katha fees|बागेश्वर धाम कथा की फीस कितनी लेते है

Leave a Comment