जब एंग्जायटी और डिप्रेशन हुआ था विकाश दिव्यकीर्ति

BY MUKESH

जब एक बार एंग्जायटी और डिप्रेशन हुआ था तब डेढ़ साल तक दबाईया खाएं है विकाश दिव्यकीर्ति को..

दिव्यकीर्ति जी कहते है ज़िंदगी में एक न एक बार दौर सबका आता है

जब आपको लगे की सारी दुनिया पीछे पड़ गई है , घबराहट हो, डर लगे...

तो दिव्यकीर्ति जी की एक बात याद रखना की 'वो पहली और आखिरी परीक्षा है'

तो दिव्यकीर्ति जी कहते है की उसके बाद  एंग्जायटी और डिप्रेशन कभी नहीं होगा