भगवान श्री राम नें शम्बूक का वध क्यों किया था ? उत्तर रामायण का सच जाने

सतयुग में ब्राह्मण ही तप कर सकते थे, त्रेता युग में ब्राह्मण ओर क्षत्रिय को तप करने के अधिकार हैं, द्वापर में ब्राह्मण, क्षत्रिय ओर वैश्य को तप करने का अधिकार था ओर कलयुग में सभी लोग तप कर सकते हैं. 

अगर इस नियम का पालन नहीं किया तो अकाल मृत्यु होना शुरू हो जाएगी, ये नियम था.

यह शम्बूक पिछले जन्म में जंघासुर नाम का राक्षस था, जो पार्वती देवी के वरदान से युक्त था 

यह अगले जन्म में एक कल्प (चार अरब, बत्तीस करोड़ मानवीय वर्ष) की आयु वाला शूद्र बना और फिर उस दुर्बुद्धि ने घोर तपस्या प्रारम्भ की 

वह तपस्या करके साक्षात् रुद्र का पद पाकर संसार को नष्ट करना चाहता था। 

श्री राम ने 7 जानो को बचाने , अपने प्रजा का कल्याण करने , शम्बूक का गलत उद्देश्य को रोकने  किया  

पूरी कथा में आपको पूरी जानकारी मिल जाएगी , नीचे क्लिक करे  

Please Share This web story

White Frame Corner
White Frame Corner
Arrow
Share