Technology FAQs

Technology FAQs

FAQs Q&A of Technology

Technology जिसे हम hindi मे तकनीक कहते है, हम वो काम जो आपके काम को आसान करता है वो तकनीक है, क्योंकि तकनीक से ही आजकल हमारे सभी कार्य हो पा रहे है, बिना टेक्नोलॉजी के ये दुनिया अधूरी है, टेक्नोलॉजी कई प्रकार कि होती है

ब्राउज़र क्या है ? ब्राउज़र एक ऐसा एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर है जो कि इंटरनेट से कनेक्ट करने का काम करता है और इंटरनेट पर उपलब्ध पेजो को दिखाता है जैसे कि गूगल क्रोम, फायरफॉक्स, माइक्रोसॉफ्ट एज इत्यादि और भी कई प्रकार के ब्राउज़र होते हैं लेकिन मैं अगर परिभाषित करूं ब्राउज़र को, For Detailed click here

ब्राउज़र में cache एक ऐसी मेमोरी है जो कि किसी वेबसाइट का डाटा उस ब्राउज़र में संग्रह करके रखती है जैसे कि अगर हम किसी वेबसाइट को खोल रहे हैं तो उसका Cache हमारे ब्राउज़र के अंदर Save हो जाता है, ताकि अगर हम दोबारा से उस वेबसाइट पर जाएं तो ज्यादा लोडिंग ना हो और एक कारण यह है कि Cache मेमोरी का गूगल ऐड का भी फायदा है,

PC के लिए ब्राउज़र्स Browsers of PC

1- Google Chrome,

2- Opera Mini,

3- Mozilla Firefox,

4- Microsoft EDGE,

5- Internet Explorer, etc.

Mobile के सबसे महत्वपूर्ण ब्राउज़र्स important Browsers of Mobile

1- Google chrome,

2- Opera mini,

3- Mozilla firefox,

4- Microsoft edge,

5- Internet explorer,

6- PUFFIN browser,

7- Samsung Internet Browser etc.

मोबाइल के अंदर गूगल क्रोम के अंदर हम html को edit नहीं कर सकते हैं जैसे कि अगर मुझे ब्लॉगर की html को edit करना है तो मैं वहां पर html को एडिट नहीं कर सकता हूं, लेकिन मैं अगर बात करूं दूसरे मोबाइल ब्राउजर कि जैसे कि firefox ब्राउज़र कि तो मैं इस ब्राउजर के अंदर Page Source को देख सकता हूं अगर मैं किसी वेबसाइट की HTML कोडिंग को देखना चाहता हूं तो मैं इस ब्राउज़र के अंदर देख सकता हूं.

जिस तरीके से कोई वेबसाइट अगर हम मोबाइल में खोलते हैं तो वह वेबसाइट कंप्यूटर के जैसे नहीं खुलती है लेकिन अगर आप इस ब्राउज़र का उपयोग करेंगे तो जैसे वह वेबसाइट कंप्यूटर के अंदर खुलती है वैसे ही आप अपने मोबाइल के अंदर उस वेबसाइट को खोल सकते हैं उस ब्राउज़र का नाम है पफीन ब्राउजर,(Puffin Browser).

दोस्तों जो मशहूर ब्राउज़र के अंदर आप html को एडिट नहीं कर सकते हो उन ब्राउज़र्स के अंदर ऐसा फीचर नहीं होता है कि आप html को एडिट कर सकूं लेकिन अगर आप html को एडिट करने का प्रयास करते हैं तो वह ब्राउज़र बहुत ज्यादा Lag करेगा, Html को एडिट करने के लिए आपको Puffin ब्राउजर का उपयोग करना पड़ेगा या फिर आप Samsung के इंटरनेट ब्राउज़र के अंदर भी एडिट कर सकते हैं आसानी से आप html एडिट कर सकते हैं.

मोशन रिग टेक्नोलॉजी एक ऐसी तकनीक है जिसके द्वारा हम मल्टीपल कैरेक्टर्स को एक फ्रेम में प्ले कर सकते हैं, हालांकि यह तकनीक अभी कुछ दिनों से बहुत ज्यादा चर्चित है, इस तकनीक के द्वारा हम एक ही व्यक्ति के अलग-अलग कैरेक्टर्स को एक वीडियो में प्ले कर सकते हैं और हम कंटेंट को तैयार कर सकते हैं, इस टेक्नोलॉजी के द्वारा हम बड़ी आसानी से मल्टीपर कैरेक्टर्स को ग्रीन स्क्रीन के माध्यम से बना सकते हैं

bhuban bam तो एक ही व्यक्ति है लेकिन वह पांच कैरेक्टर एक ही फ्रेम में बिना किसी कट के कैसे प्ले कर सकता है ? सोचने वाली बात है ! लेकिन यह संभव हो पाया Motion Rig Technology से

सबसे पहले आपको अपने कैरेक्टर्स को जितने भी कैरेक्टर्स को आप करना चाहते हैं सबसे पहले आपको ग्रीन स्क्रीन के ऊपर आपको एक-एक करके सारे कैरेक्टर्स को Record करना हैं ,उसके बाद काम आता है अपने बहुत सारे वीडियो एडिटर जिनकी मदद से हम आसानी से मोशन रिंग टेक्नोलॉजी को उपयोग में ले सकते हैं

पोडकास्ट एक ऐसा सिस्टम है जो कि गूगल के द्वारा बनाया गया है और पोडकास्ट के द्वारा हम अपना ऑडियो को या वीडियो के माध्यम से गूगल पॉडकास्ट के द्वारा सिर्फ ऑडियो में पोस्टकास्ट कर सकते हैं

पॉडकास्ट को चालू करके पॉडकास्ट कर सकते हैं सबसे पहले आपको पॉडकास्ट चालू करना पड़ेगा सबसे पहले आपको जाना है गूगल फीडबर्नर के ऊपर गूगल फीड बर्नर मैं आपको 1 फीड बनानी पड़ेगी फीड बनाने के बाद, आपको i am a पोडकास्ट पर क्लिक कर देना है तो वहां से आप आसानी से पॉडकास्ट के लिए एलिजिबल हो जाएंगे, फीड बनाने के बाद आप अपनी ऑडियो फाइल को अपलोड कर सकते हैं

सबसे पहले आपको अपनी वेबसाइट बनानी पड़ेगी वेबसाइट बनाने के बाद आपको आर्टिकल लिखना पड़ेगा आर्टिकल लिखने के बाद आपको पॉडकास्ट लगाना पड़ेगा,

पॉडकास्ट लगाने के बाद आपको कुछ सिंपल स्टेप करने पड़ते हैं जैसे कि जो आपने टेक्स्ट लिखा है अपने आर्टिकल के अंदर उस टेक्स्ट को ऑडियो के रूप में कन्वर्ट करने के लिए कुछ वेबसाइट्स आती है.

अगर आप अपनी वेबसाइट के अंदर या पॉडकास्ट के अंदर पॉडकास्ट करते हैं तो आपकी वेबसाइट के लिए भी फायदा होता है और आपका जो कंटेंट है वह लोगों तक पहुंचता है पॉडकास्ट करने से बहुत सारे फायदे होते हैं

Internet चलने कि Process क्या है ? FAQs

हमारे फोन में या कंप्यूटर में internet नहीं होगा तब तक हम इस दुनिया से नहीं जुड़ पाएंगे तो अब सवाल यह आता है कि आखिर internet चलता कैसे है ? क्या Tower से इंटरनेट चलता है, Satellite से internet चलता है या Cable से इसका जवाब आज मैं गहराई में देने वाला हूं, आइए समझते हैं कि internet कैसे चलता है.

आपके दिमाग में आता होगा कि हमारा internet है वह सेटेलाइट से चलता है इसका उत्तर है नहीं हमारा इंटरनेट अभी सेटेलाइट से नहीं चलता है क्योंकि इंटरनेट अगर हम सेटेलाइट से चलाएंगे तो सबसे पहले तो हमें बहुत ज्यादा खर्चा लगेगा, और इंटरनेट की स्पीड भी बहुत कम होगी,

अब आपके यहां पर प्रश्न आएगा कि Satellite से internet क्यों नहीं चलेगा ? तो मे आपको बता दूं कि Satellite से internet चलाना बहुत ज्यादा मुश्किल है क्योंकि धरती से सेटेलाइट की दूरी करीब 36,000 किलोमीटर है, और अगर हम धरती से Satellite Connection जोड़ेंगे तो कनेक्शन जोड़ने में ही काफी समय लगेगा

दोस्तों हम सभी लोग सोचते हैं कि हमारा internet Tower से चल रहा है क्योंकि Tower सभी जगह लगे होते हैं यह बात भी पूर्णता सही नहीं है यह बात भी आधी ही सही है इसको हम पूर्णता सही नहीं बोल सकते, अब आपके दिमाग में प्रश्न आ रहा होगा कि यह बात सही क्यों नहीं है कि internet, Tower से चल नहीं रहा है,

 दोस्तों आपका जो internet है वह Tower से ही चलता है लेकिन आपका जो Tower है वह सिग्नल को भेजने का काम भी करता है और सिग्नल प्राप्त करने का काम भी करता है Tower सिर्फ इसलिए लगाए जाते हैं क्योंकि अधिक से अधिक लोग उस Tower से कनेक्ट हो सके और हमारा मोबाइल फोन भी Tower से ही जुड़ा रहता है, लेकिन वह Tower भी Cable से जुड़ा रहता है

अब दोस्तों आपके दिमाग में प्रश्न आ रहा होगा कि क्या जो internet है वह Cable से चलता है इसका उत्तर है जी हां आपका जो internet है यह Cable से ही चलता है पूरी दुनिया में चाहे अमेरिका हो चाहे कोई सा भी देश हो सभी देश Optical Fiber Cable से ही जुड़े हुए हैं जो कि समुद्र में डली हुई हैं,

दुनिया का पूरा internet इन Optical Fiber Cable के द्वारा ही चलता है सबसे पहले तो पूरी दुनिया में इन Optical Fiber Cable को विछाया गया है अब चाहे वहां पर समुद्र हो या फिर पहाड़ सभी जगह पर Optical Fiber Cable को विछाया गया है,

दोस्तों अब आपकी दिमाग में शायद एक सवाल और आ रहा होगा कि जो Tower लगे रहते हैं क्या वह आपस में कनेक्ट रहते हैं या आपस में जुड़े होते हैं तो इसका उत्तर है जी हां यह जो Tower लगे होते है वह आपस में जुड़े रहते हैं, एक टावर करीब 70 किलोमीटर दूर स्थित किसी दूसरे Tower से जुड़ सकता है,

अब मैं आपको बताऊं कि हमारा जो मोबाइल फोन है वह जुड़ा रहता है Tower के तरंगों के माध्यम से, इसके बाद जो आपका Tower है वह हो सकता है कि जुड़ा हो किसी दूसरे टावर से अगर वहां पर Optical Fiber Cable नहीं है तो, अगर वहां पर Optical Fiber Cable नहीं है तो आपके गांव का Tower किसी दूसरे शहर के Tower से जुड़ा होगा, और जो शहर का tower है वो Cable से जुडा रहता है.

Optical Fiber Cable क्या है ? और Optical Fiber Cable तो बहुत छोटी है लेकिन जो उपयोगकर्ता है वह बहुत सारे हैं, तो internet कैसे serve कर रहा होगा ? इसका उत्तर है कि Optical Fiber Cable एक नहीं विछी है बहुत सारी विछी हुई है,

दूसरी बात यह है कि जो Optical Fiber Cable है उसके एक केबल से अंदर कई तारे wire रहते है, और उन wires में से एक wire से लगभग 1000GB/s की स्पीड को भेजा जा सकता है, तो आप समझ सकते हैं कि इस ऑप्टिकल फाइबर केबल की स्पीड कितनी ज्यादा है.

उदाहरण के तौर पर अगर हम बात करें Google की तो जब भी आप Google को खोलते हैं तो सबसे पहले आपकी रिक्वेस्ट जाती है तरंगों के माध्यम से Tower में जाती है Tower के माध्यम से Optical Fiber Cable में जाती है, Optical Fiber Cable के बाद वह जुडी होती है Google के डाटा सेंटर से, Google के डाटा सेंटर मे वह रिक्वेस्ट जाती है,

 

उसके वाद Google उसको verify करने के बाद Access दे देता है और आपके Phone मे Google खुल जाता है यह प्रोसेस इतनी जल्दी होती है कि मुझे तो बताने में टाइम लग रहा है लेकिन इसको होने में milisecond लगता है, इतनी ज्यादा अधिक शक्तिशाली है Optical Fiber Cable, इसी तरीके से हमारे internet काम करता है.

©emka.news

FAQs About GB Whatsapp

GB Whatsapp एक प्रकार का whatsapp ही है जैसे कि आप नॉर्मल whatsapp को उपयोग करते हैं वैसे भी यह भी एक प्रकार का whatsapp ही है इसके द्वारा भी Messaging का काम ही कर सकते हैं लेकिन इसके अंदर इतने सारे फीचर्स दिए जाते हैं कि आपके काम को और आसान बना देता है,

आप को यह whatsapp उपयोग करना चाहिए, तो मैं आपको बताऊं इस GB Whatsapp के बारे में GB Whatsapp पर बहुत बढ़िया फीचर्स है और इसके अंदर कई सारे ऐसे फीचर्स हैं जिनकी सहायता से हम अपने काम को कई और तरीकों से कर सकते हैं,

और Privacy का भी बहुत ज्यादा ध्यान दिया गया है इस whatsapp के अंदर, Privacy कि भी आप छुपा सकते हैं जिससे आपकी जो Privacy है उसको हानि नहीं पहुंचती है, तो GB Whatsapp के अंदर और भी कई सारे फीचर्स ऐसे हैं जिनके अंदर आपने कभी उनको उपयोग नहीं किया है लेकिन आपको उपयोग करना जरूरी है इसे सभी फीचर्स के बारे में आज मैं आपको बताने वाला हूं.

GB Whatsapp को उपयोग करते होगे तो आपके दिमाग में एक प्रश्न आता होगा कि यह जो GB Whatsapp है यह क्या secure है ? क्या इसके अंदर हमारी detail Leak तो नहीं होता है ? तो इस तरीके के सवाल भी होते हैं क्योंकि यह जो ऐप है वह थर्ड पार्टी एप्लीकेशन है,

जो developers द्वारा बनाया गया है हालांकि यह जो GB Whatsapp वह Secure है और इसके अंदर आपका डाटा भी नहीं चुराया जाता है हालांकि इसके अंदर कई कारें एडवांस में फीचर देखने को मिलते हैं लेकिन हमारा डाटा प्राइवेसी इन सभी को बहुत ध्यान में रखा जाता है,

और मैं आपसे बात करूं इस GB Whatsapp के बारे में तो यह GB Whatsapp secure तो है ही और फीचर भी साथ में प्रदान करता है और इसके अंदर End-To-End Encryption भी देखने को मिल जाती है जो हमारे मैसेज को और भी Secure करती है.

कई सारे फीचर्स आपको बताने वाला हूं कि आप उसको उपयोग करना शुरु कर दोगे,

  1.  दोस्तों GB Whatsapp की मदद से आप whatsapp पर ऑनलाइन है यह छुपा सकते हैं सभी को यह लगेगा कि आप whatsapp उपयोग नहीं कर रहे हैं और आपका स्टेटस online show नहीं होगा लेकिन आप Whatsapp का उपयोग कर रहे होंगे,
  2.  दोस्तों इस GB Whatsapp की मदद से हम अपने स्टेटस को भी छुपा सकते हैं मतलब कि आप सभी का स्टेटस देख सकते हैं लेकिन उनकी स्टेटस की लिस्ट में आपका नाम नहीं होगा यह भी बहुत अच्छा feature है GB Whatsapp के अंदर,
  3.  दोस्तों आप किसी कांटेक्ट को अपने कांटेक्ट लिस्ट में बिना सेव किए हुए भी उस नंबर पर मैसेज कर सकते हो सिर्फ आपको उस नंबर को डालना है और मैसेज कर देना है नॉर्मल व्हाट्सएप के अंदर यह होता है कि सबसे पहले उस नंबर को सेव करना होता है उसके बाद ही आप मैसेजिंग कर सकते हो लेकिन GB Whatsapp के अंदर ही अच्छा फीचर है,
  4.  GB Whatsapp के अंदर online को फ्रीज कर सकते हैं,
  5.  दोस्तों GB Whatsapp के अंदर यह सेटिंग भी कर सकते हैं कि आपको किसी का भी स्टेटस नहीं दिखेगा जी हां दोस्तों आपके GB Whatsapp के अंदर किसी का भी स्टेटस नहीं दिखेगा आप इस सेटिंग को भी चालू कर सकते हैं वह कैसे करना है वह भी मैं दोस्तों आगे बताने वाला हूं,
  6.  GB Whatsapp के अंदर आप मैसेज शेड्यूल भी कर सकते हैं जैसे कि दोस्तों किसी का बर्थडे 3 महीने बाद है तो आप अपने मैसेज को शेड्यूल पर लगा सकते हैं और वह मैसेज 3 महीने बाद उसी टाइम के ऊपर उस व्यक्ति को मैसेज जाएगा जिस टाइम पर आपने उस मैसेज को सेट किया है,
  7.  GB Whatsapp के अंदर आप customization भी कर सकते हैं जैसे कि logo को बदल कर सकते हैं व्हाट्सएप के अंदर जो theme है उनको इंस्टॉल कर सकते हैं और Notifications Logo को भी आप चेंज कर सकते हैं,
  8.  दोस्तों GB Whatsapp के अंदर आप ऑटो रिप्लाई भी सेट कर सकते हैं मतलब कि नया व्यक्ति कोई भी अगर आपको मैसेज करता है तो ऑटोमेटिक रिप्लाई हो जाएगा यह भी आप सैट कर सकते हैं GB Whatsapp के अंदर,
  9.  दोस्तों जब आप किसी को मैसेज करते हो तो सिंगल टिक ✓ जाता है और जब वह मैसेज उस व्यक्ति के मोबाइल पर चला जाता है तो डबल टिक ✓✓ आता है और जब वह व्यक्ति उस मैसेज को देख लेता है तो दो टेक होने के बाद blue हो जाता है तो यह सब आप GB Whatsapp के अंदर hide कर सकते हैं,
  10.  दोस्तों GB Whatsapp के अंदर आप एक सेटिंग को और कर सकते हैं जब भी कोई व्यक्ति मैसेज करता है और तुरंत वह delete for everyone कर देता है तो आपकी फोन से वह मैसेज डिलीट नहीं होगा क्योंकि आप GB Whatsapp उपयोग कर रहे हैं यह भी GB Whatsapp का फीचर है,
  11.  दोस्तों GB Whatsapp के अंदर आप कलर्स को theme को डाल सकते हैं,
  12.  दोस्तों जहां पर आप चैट करते हो किसी पर्सन से तो वहां पर भी आप डिजाइनिंग कर सकते हो जो bluetick जा रहा है उसको भी आप हां बदल सकते हो और अपने व्हाट्सएप को डिजाइन कर सकते हो GB Whatsapp मे.

GB Whatsapp में सभी लोगों की status को hide करने के लिए आपको जाना पड़ेगा Gb Settings के अंदर, उसके बाद आपको जाना है Home Screen के अंदर, इसके बाद आपको जाना है Status के अंदर, उसके बाद आपको scroll करना है ऊपर और नीचे आपको लिखा होगा Mute,Viewed,Recent Status इन सभी स्टेटस को आप को on कर देना है तो किसी का भी स्टेटस आपके पास नहीं आएगा यह भी GB Whatsapp का बहुत अच्छा पिक्चर है जिसको मैं भी उपयोग करता हूं,

FAQs about Custom Rom

आइये जानते है कि Phone के software को कैसे बदले इससे पहले आपको जानना होगा Custom Rom के बारे में Custom Rom क्या होता है ? तो आइए जानते हैं कि Rom kya hai ? और कैसे काम करती है Rom को कौन कौन बनाता है और Rom को कैसे अपने फोन में ही बदल सकते हैं ?

दोस्तों Rom एक के Software है Operating System है जिसे हम Rom के नाम से जानते हैं और यह Rom अलग-अलग कंपनियों की होती हैं जैसे कि MI के अंदर MIUI आता है और हमारे जो Apple के फोन में उनके अंदर IOS आता है और Samsung के फोन के अंदर OneUI आता है,

और अपने सुना होगा Stock Android के बारे में तो यह एक Software है जो कि कंपनी के द्वारा ही बनाया हुआ रहता है इसे हम लोग Rom कहते हैं अब Custom Rom क्या है ? हम बात करने Custom Rom के बारे में

जो Rom रहती है वह Official Company कि रहती है

phone के software या उस rom से अगर आप तंग आ गए हैं क्योंकि फोन के अंदर जो software आता है आपको उसी को उपयोग करना होता है और उसी software को उपयोग करते करते आप बोर हो जाते हैं इसीलिए custom rom बनाई गई है ताकि जब आपका मन करे तब आप नया software डाल कर enjoy कर पाए,

 जिस तरीके से आप रोज रोज एक ही प्रकार का खाना नहीं खा सकते उसी प्रकार आप भी अपने फोन को नया लुक देने की कोशिश करते रहते होंगे लेकिन आज मैं आपको बताऊंगा कि हम Phone के software को कैसे बदले

Phone के software को बदलने से पहले मैं कुछ बातें शेयर करना चाहता हूं जो कि आपको जानना बहुत ही जरूरी है जो हमारा फोन आता है और उसके अंदर जो software आता है वहां पर एक Lock लगा रहता है सभी फोन के अंदर जिसे हम Bootloader कहते हैं, सबसे पहले उस bootloader को unlock करना पड़ता है, और हम computer से एक बार unlock करना होगा उसके बाद ही हम phone के software को बदल सकते हैं, phone के bootloader को unlock करने के बाद हमें computer से ही custom recovery डालनी होगी, अलग-अलग फोन के लिए अलग-अलग custom recovery आती है आपको google पर सर्च करना है अपने फोन का मॉडल और लिखना है और download करना है custom recovery  example -: Custom Recovery Asus Max Pro M1 यह सारा काम करना होगा आपको एक बार कंप्यूटर की आवश्यकता पड़ने वाली है, यह कार्य करने के बाद आपको जरूरत पड़ेगी custom rom की तो आपको उस फाइल को download करना होगा, मान लीजिए कि आपका मोबाइल Redmi note 5 है और उसके लिए आपको custom rom चाहिए है क्योंकि अलग-अलग मोबाइल के लिए अलग-अलग custom बनाई जाती है उसे हमें डाउनलोड करना पड़ता है

1- Unlock Bootloader from Computer help of youtube

2- download Custom recovery & flash in phone from computer,

3- download custom rom for your device,

4- boot to recovery,

5- wipe - dalvic, cache, data, system & vendor

6- & than Flash Your Custom Rom,

7- reboot & enjoy your new Phone!

custom recovery का सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण योगदान है क्योंकि विना custom recovery के आप Custom rom को फ्लैश नहीं कर सकते हैं इसलिए हम बात करते हैं custom recovery के बारे में,

तो जो आपको फोन रहता है उसके अंदर एक recovery आती है जो कंपनी की होती है उस कंपनी की recovery के साथ आप custom rom नहीं डाल सकते हैं, इसलिए जरूरत पड़ती है custom recovery की, custom recovery अलग-अलग फोन के लिए बनाई गई है और उस फ़ाइल को हमें डाउनलोड करना पड़ता है और उस recovery को वही हमें डालना पड़ता है अपने फोन में,

bootloader एक ऐसा लॉक है जिसे हर कंपनी लगाकर फोन को भेजती है क्योंकि कि जब तक यह lock, unlock ना किया जाए तब तक हमारे फोन में कोई भी प्रकार की अटैकिंग नहीं कर सकता है यह अटैकर की अटैक से बचाने के लिए इस लोक को लगाया जाता है, किसी को हम bootloader lock भी कहते हैं

जो Rom रहती है वह Official Company कि रहती है मतलब कि कंपनी के द्वारा बनाई होती है लेकिन जो custom Rom रहती है उसके लिए हमें अपने मोबाइल फोन को Unlock करना पड़ता है सभी फोन के अंदर एक लॉक लगा रहता है जिसे bootloader कहते हैं

bootloader एक ऐसा लॉक है जिसे हर कंपनी लगाकर फोन को भेजती है क्योंकि कि जब तक यह lock, unlock ना किया जाए तब तक हमारे फोन में कोई भी प्रकार की अटैकिंग नहीं कर सकता है यह अटैकर की अटैक से बचाने के लिए इस लोक को लगाया जाता है, किसी को हम bootloader lock भी कहते हैं,

Read – Internet कैसे चलता है ?

Technology FAQs
Technology FAQs