सिबिल स्कोर क्या है – सिबिल स्कोर का काम, कैसे चैक करते है पूरी जानकारी 2022

दोस्तों आज हम बात करने वाले है सिबिल स्कोर के बारे में आपने सिबिल स्कोर तो कहीं ना कहीं सुना ही होगा और अगर आपने सिबिल स्कोर नहीं सुना है तो इसका मतलब यह है कि आपने कभी लोन नहीं लिया है,

जो व्यक्ति लोन लेता है या लोन के बारे में जानकारी रखता है उसको सिविल स्कोर की जानकारी होती है तो आज हम पूरी जानकारी आपको देने वाले हैं सिविल स्कोर के बारे में,

सिविल स्कोर क्या होता है, इसका अर्थ क्या है काम क्या है और यह लोन लेने में सहायक क्यों है और इसको चेक कैसे किया जाता है और भी कई सारी प्रकार की जानकारी मैं आपको देने वाला हूं तो आइये जानते हैं सिविल स्कोर के बारे में विस्तार से.

इस पेज पर क्या क्या है

सिविल स्कोर क्या है ?

सिविल स्कोर तीन अंको कि एक संख्या है, जो हमें यह बताती है कि आपका सिविल स्कोर कितना है और इसका संबंधित सीे ऋण लेने से है या लोन लेने से है अगर आपका सिविल स्कोर अच्छा होगा, अधिक होगा तो आपका लोन जल्दी मिल जाएगा, इसी को क्रेडिट स्कोर भी कहते है,

लेकिन अगर आपका सिबिल स्कोर बहुत खराब होगा तो आपको लोन नहीं मिलेगा और ना ही क्रेडिट कार्ड आपको अप्रूव होगा,

CIBIL का पूरा नाम – Credit Information Bureau (India) Limited है

उदाहरण – उसको हम एक उदाहरण के तौर पर समझते हैं जब आप कोई एग्जाम देते हैं तो उसमें आपको ज्यादा नंबर आते हैं और कम नंबर आते हैं अगर आपको ज्यादा नंबर आ रहे हैं तो बहुत ज्यादा चांस है कि आपको नौकरी लग जाए,

और अगर कम नंबर आ रहे हैं या आप फेल हो रहे हो तो आपको नौकरी नहीं लग सकती है, मतलब यूं कहें कि सिविल स्कोर से ही आपका लोन तय होता है कि आपको कितना loan मिलेगा, मिलेगा या नहीं,

आपका सिबिल स्कोर 750 से अधिक होना चाहिए, कुल सिबिल स्कोर 900 होता है

सिविल स्कोर का काम क्या है ?

सिविल स्कोर का काम आपको यह बताता है कि आप को ऋण दिया जाएगा या नहीं इसका संबंध लोन से है आपको लोन कितना मिलेगा क्रेडिट कार्ड कि लिमिट आपको कितनी दी जाएगी, क्रेडिट कार्ड अप्रूव होगा या नहीं होगा,

सिबिल स्कोर क्या है
सिबिल स्कोर क्या है

यह सब निर्भर करता है क्रेडिट स्कोर या सिबिल स्कोर के ऊपर सिबिल स्कोर अच्छा रहेगा 750 के ऊपर रहेगा तो आपको लोन और क्रेडिट कार्ड दोनों ही Approve हो जाएंगे उसकी लिमिट आपका बैंक तय करता है.

अन्य पड़े – किसी भी bank का Credit Card Apply कैसे करें: Axis Bank, ICICI, State Bank, Kotak

सिबिल स्कोर चैक कैसे करते है ?

  • सिबिल स्कोर देखने के लिए cibil कि official website पर जाए, यहाँ क्लिक करें,
  • आप अपना नाम, Mail, Document चुने, document number डाले, जन्मतिथि, Mobile, Pin Code डाले,
  • Accept & Continue पर क्लिक करें,
  • OTP डाले,
  • आपका सिबिल स्कोर आपको दिख जायेगा,
  • आपकी पूरी जानकारी आ जाएगी

दोस्तों हालाकि सिविल स्कोर कई सारी वेबसाइट के द्वारा आप देख सकते हैं बैंक की वेबसाइट के द्वारा भी दिखते हैं पेटीएम के अंदर भी आप देख सकते हैं और आप पैसा बाजार के अंदर भी आप सिबिल स्कोर चेक कर सकते हैं.

सिविल स्कोर खराब होने पर क्या करना चाहिए?

दोस्तों अगर आपका सिविल स्कोर ख़राब है तो कुछ निम्न बातो का ध्यान रखे

  • आपने जो Loan लिया है उसको तुरंत चुकाये,
  • समय से पहले ही बिल भर दे,
  • अब आपने कहां-कहां पर लोन लिया है और उसकी जानकारी पूरी आपके स्कूल की वेबसाइट पर आपको मिल जाती है आपने कहां पर लोन लिया है कि और आपने समय पर भरा है या फिर नहीं भरा है आपका जो ईएमआई है वह आप समय पर भर रहे हैं या फिर नहीं मर रहे हैं कितने दिनों में भर रहे हैं यह सारा डाटा जब कलेक्ट होता है तब आपका सिविल इसको बनता है EMI, आखिरी तारिक़ से 2 दिन पहले भर दे,
  • क्रेडिट रिपोर्ट लेते रहे,
  • बकाया राशि को चुकाये,
  • ध्यान दें कि आपके अलावा किसी और ने तो छोटा मोटा loan तो नहीं लिया है,

सिबिल स्कोर कैसे बनता है?

दोस्तों सिविल स्कोर आपका तय होता है आपने जो ऋण या लोन लिया हुआ है उसका आप ड्यू कब भर रहे हैं कितना भर रहे हैं और आपने कहां-कहां पर लोन लिया है और उसकी पूरी जानकारी आपके सिबिल कि वेबसाइट पर आपको मिल जाती है,

आपने कहां पर लोन लिया है, आपने समय पर बिल भरा है या फिर नहीं भरा है आपका जो EMI है वह आप समय पर भर रहे हैं या फिर नहीं भर रहे हैं कितने दिनों में भर रहे हैं यह सारा डाटा जब कलेक्ट होता है तब आपका सिविल स्कोर बनता है

30% – सिविल स्कोर तय करता है,

25% – Secured & Unsecured लोन पर,

20% – क़र्ज़ से,

25% – Credit Exposure पर

यह सभी data जब Collect होता है तब आपका सिबिल स्कोर बनता है.

सबसे अच्छा सिविल स्कोर कितना होना चाहिए ?

सबसे अच्छा सिबिल स्कोर 750 से ऊपर होना चाहिए, और यह स्कोर तब ही बनेगा जब आप समय पर भुगतान करोगे, समय पर EMI भरोगे, समय पर बिल भरोगें,

इससे ही आपका सिबिल स्कोर तय होगा और आपका सिबिल स्कोर 750 + होना चाहिए

सिबिल स्कोर क्या है
सिबिल स्कोर क्या है

सिबिल स्कोर कितने दिन में अपडेट होता है?

 सिबिल स्कोर को अपडेट होने में 45 दिन लगते हैं हर 45 दिनो मे आपकी क्रेडिट रिपोर्ट तैयार होती है जो डाटा भेजा जाता है उस डाटा के अनुसार आपका सिविल स्कोर हर 45 दिनों में Update होता है,

सिबिल से नाम कैसे हटाये?

 दोस्तों जब आप एक बार बैंक अकाउंट खुलवा लेते हैं और उसके बाद कहीं पर भी कोई छोटा-मोटा लोन ले लेते हैं या फिर कहीं पर कुछ भी रिचार्ज कर लिया या पे लेटर सेवाओं के जरिए तो फिर आपका जब एक बार सिबिल स्कोर बन जाता है उसके बाद सिबिल स्कोर से नाम नहीं हटता है

पर्सनल लोन के लिए सिबिल स्कोर कितना होना चाहिए?

 दोस्तों जब आप पहली बार कोई लोन लेते हो तो आपका सिविल स्कोर नहीं रहता है आपके बैंक की ट्रांसक्शन हिस्ट्री के ऊपर आपको पर्सनल लोन या फिर और कोई लोन दिया जा सकता है जैसे ही आप लोन ले लेते हैं,

उसके बाद ही आपका सिविल स्कोर तैयार हो जाता है, पर्सनल लोन लेने के लिए सिविल स्कोर कम से कम 750 के ऊपर ही होना चाहिए यही एक स्कोर होता है जो आपको लोन दिलाने में मदद करता है.

लोन के लिए सिविल कितना होना चाहिए?

दोस्तों कोई भी लोन अगर लेते हो तो उसके लिए कोई निश्चित सिविल स्कोर नहीं बताया गया है लेकिन आपका सिबिल स्कोर 750 से 800 तक होना चाहिए तभी आपको कोई भी लोन मिल सकता है हालांकि बिना सिबिल स्कोर से आपको लोन मिल सकता है बैंक के द्वारा कुछ डॉक्यूमेंट की जरूरत पड़ेगी.

सिबिल स्कोर क्या है
सिबिल स्कोर क्या है

सिविल खराब होने पर लोन कैसे मिलेगा ?

 दोस्तों अगर आपका सिबिल स्कोर खराब है और आपको लोन की जरूरत है आप लोन लेना चाहते हैं तो आपको अपनी नजदीकी बैंक शाखा से संपर्क करना पड़ेगा वहीं पर आपको कुछ महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट की जरूरत होगी,

आप डॉक्यूमेंट को जमा करके आप लोन ले सकते हो लेकिन आपको अपनी बैंक के मैनेजर से बात करनी पड़ेगी वही आपको बताएंगे कि क्या-क्या डॉक्यूमेंट आपको देने पड़ेंगे.

क्रेडिट स्कोर कितना रहना चाहिए?

 हालांकि क्रेडिट स्कोर 300 से 900 के बीच में ही रहता है लेकिन महत्वपूर्ण स्कोर आपके लिए 750 से 800 के बीच में होना चाहिए, 800 से अधिक है तो और अच्छी बात है

EMI नहीं चुकाने पर क्या होता है?

 आप अगर कोई भी EMI चुका रहे हैं और आप उसके बाद एक के बाद एक EMI को चुकाना बंद कर देते हैं तो जिस कार्ड से आप ही EMI चुका रहे हैं वह कार्ड वाला या डेफाल्टर या वह बैंक आपके ऊपर केस या क़ानूनी कार्यवाही कर सकता है,

और आपको जेल भी जाना पड़ सकता है या फिर आप रिक्वेस्ट करोगे तो आपको कुछ दिनों की मोहलत भी दी जा सकती है उस डिफॉल्टर के द्वारा तो आप कहीं पर भी भाग नहीं सकते हैं EMI नहीं चुकाने से, आपके ऊपर सीधी कार्रवाई हो सकती है,

और यही नहीं कार्रवाई के साथ-साथ आपका सिविल इसको भी बहुत ज्यादा डाउन कर दिया जाएगा उसके क्या होगा कि आपको भविष्य में कभी लोन नहीं ले पाएंगे,

आधार कार्ड से सिविल कैसे चेक करें?

सिबिल स्कोर चेक करने के लिए आपको आधार कार्ड की जरूरत नहीं है आपको वोटर आईडी नंबर डालना पड़ेगा, आपको सिविल स्कोर की वेबसाइट पर जाना है और वहां पर रजिस्ट्रेशन करके आप सिबिल स्कोर पता कर सकते हैं इसके ऊपर पूरी जानकारी आपको ऊपर मिल जाएगी.

आखिर सिबिल स्कोर से ही क्यों लोन दिया जाता है ?

दोस्तों सिबिल स्कोर केवल भारत मे ही है, इससे हमें किसी ब्यक्ति कि क्रेडिट History पता चलती है कि किसी ब्यक्ति ने कहाँ कहाँ पर लोन लिया है और इस व्यक्ति को लोन दिया जा सकता है या नहीं अगर किसी व्यक्ति ने लोन लिया है तो वह समय-समय पर लोन का बिल भर रहा है या नहीं,

तो इन सब तरीकों को देखा जाता है उसके बाद ही किसी व्यक्ति को लोन दिया जाता है वरना कोई भी व्यक्ति पैसा खाकर चला जाए तो ऐसे किन्ही कारणों से एक प्लेटफार्म बनाया गया,

जिसे हम सिविल स्कूल के नाम से भी जानते हैं सिबिल स्कोर तय करता है कि आपको लोन दिया जाएगा या नहीं और कितना दिया जाएगा.

सिबिल स्कोर क्या है सिबिल स्कोर का काम, कैसे चैक करते है faq

  • सिबिल स्कोर देखने के लिए cibil कि official website पर जाए, यहाँ क्लिक करें,
  • आप अपना नाम, Mail, Document चुने, document number डाले, जन्मतिथि, Mobile, Pin Code डाले,
  • Accept & Continue पर क्लिक करें,
  • OTP डाले,
  • आपका सिबिल स्कोर आपको दिख जायेगा,
  • आपकी पूरी जानकारी आ जाएगी

CIBIL का पूरा नाम - Credit Information Bureau (India) Limited है

सिविल स्कोर का काम आपको यह बताता है कि आप को ऋण दिया जाएगा या नहीं इसका संबंध लोन से है आपको लोन कितना मिलेगा क्रेडिट कार्ड कि लिमिट आपको कितनी दी जाएगी, क्रेडिट कार्ड अप्रूव होगा या नहीं होगा,

  • आपने जो Loan लिया है उसको तुरंत चुकाये,
  • समय से पहले ही बिल भर दे,
  • अब आपने कहां-कहां पर लोन लिया है और उसकी जानकारी पूरी आपके स्कूल की वेबसाइट पर आपको मिल जाती है आपने कहां पर लोन लिया है कि और आपने समय पर भरा है या फिर नहीं भरा है आपका जो ईएमआई है वह आप समय पर भर रहे हैं या फिर नहीं मर रहे हैं कितने दिनों में भर रहे हैं यह सारा डाटा जब कलेक्ट होता है तब आपका सिविल इसको बनता है EMI, आखिरी तारिक़ से 2 दिन पहले भर दे,
  • क्रेडिट रिपोर्ट लेते रहे,
  • बकाया राशि को चुकाये,
  • ध्यान दें कि आपके अलावा किसी और ने तो छोटा मोटा loan तो नहीं लिया है,

सिविल स्कोर आपका तय होता है आपने जो ऋण या लोन लिया हुआ है उसका आप ड्यू कब भर रहे हैं कितना भर रहे हैं और आपने कहां-कहां पर लोन लिया है

30% - सिविल स्कोर तय करता है,

25% - Secured & Unsecured लोन पर,

20% - क़र्ज़ से,

25% - Credit Exposure पर

सबसे अच्छा सिबिल स्कोर 750 से ऊपर होना चाहिए, और यह स्कोर तब ही बनेगा जब आप समय पर भुगतान करोगे, समय पर EMI भरोगे, समय पर बिल भरोगें,

सिबिल स्कोर को अपडेट होने में 45 दिन लगते हैं हर 45 दिनो मे आपकी क्रेडिट रिपोर्ट तैयार होती है

कोई भी EMI चुका रहे हैं और आप उसके बाद एक के बाद एक EMI को चुकाना बंद कर देते हैं तो जिस कार्ड से आप ही EMI चुका रहे हैं वह कार्ड वाला या डेफाल्टर या वह बैंक आपके ऊपर केस या क़ानूनी कार्यवाही कर सकता है, सिविल इसको भी बहुत ज्यादा डाउन कर दिया जाएगा

हालांकि क्रेडिट स्कोर 300 से 900 के बीच में ही रहता है लेकिन महत्वपूर्ण स्कोर आपके लिए 750 से 800 के बीच में होना चाहिए, 800 से अधिक है तो और अच्छी बात है

Leave a Comment