Browser क्या है ? कितने प्रकार के होते है ? पूरी जानकारी

Browser क्या है ? कितने प्रकार के होते है ? पूरी जानकारी
Browser क्या है ? कितने प्रकार के होते है ? पूरी जानकारी

Table of Contents

Browser क्या है ? कितने प्रकार के होते है ? पूरी जानकारी What is Browser & Types of Browser All information

 दोस्तों अगर आप इंटरनेट का उपयोग करते हैं तो ब्राउज़र का उपयोग तो करते ही होगे क्योंकि बिना ब्राउज़र के आप इंटरनेट का इस्तेमाल कर ही नहीं सकते हैं अब चाहे वह कंप्यूटर के अंदर हो या फिर लैपटॉप के अंदर हो या फिर मोबाइल के अंदर हो सभी के अंदर हम बिना ब्राउज़र के इंटरनेट का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं,

ब्राउज़र क्या है ? What is Browser ?

क्योंकि जो ब्राउज़र है उसका काम ही यही है कि जितने भी वेबपेज हैं उन सभी को इंटरनेट से कनेक्ट करना बिना ब्राउज़र के हम इंटरनेट से कनेक्ट नहीं हो सकते हैं इंटरनेट को चला नहीं सकते हैं इसलिए हमें ब्राउज़र की आवश्यकता होती है, browser kya है 

जैसे कि गूगल क्रोम, फायरफॉक्स, माइक्रोसॉफ्ट एज इत्यादि और भी कई प्रकार के ब्राउज़र होते हैं लेकिन मैं अगर परिभाषित करूं ब्राउज़र को, Browser क्या है ? कितने प्रकार के होते है ? पूरी जानकारी

कि ब्राउज़र क्या है ? ब्राउज़र एक ऐसा एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर है जो कि इंटरनेट से कनेक्ट करने का काम करता है और इंटरनेट पर उपलब्ध पेजो को दिखाता है,

ब्राउज़र के प्रकार Types of Browsers

 वैसे तो ब्राउज़र कई प्रकार के होते हैं सभी ब्राउज़र के अपने -अपने फीचर्स होते हैं अपनी अपनी सिक्योरिटी होती है सभी ब्राउज़र अलग-अलग होते हैं हालांकि ब्राउज़र का काम तो एक ही है ,browser kya है

आपको इंटरनेट से कनेक्ट करना और इंटरनेट के वेब पेजों को आपको दिखाना लेकिन सभी ब्राउज़र एक अपनी अलग से सिक्योरिटी प्राइवेसी इंक्रिप्शन अलग से लेकर जाते हैं जिनमें से बहुत सारे ब्राउज़र्स ऐसे हैं जो चाइना से हैं जिनको गूगल ने और भारत सरकार ने बैन कर दिया है लेकिन ब्राउज़र कई सारे हैं जिनकी लिस्ट निम्नानुसार है –

PC के लिए ब्राउज़र्स Browsers of PC

1- Google Chrome,

2- Opera Mini,

3- Mozilla Firefox,

4- Microsoft EDGE,

5- Internet Explorer, etc.

Mobile के सबसे महत्वपूर्ण ब्राउज़र्स important Browsers of Mobile

1- Google chrome,

2- Opera mini,

3- Mozilla firefox,

4- Microsoft edge,

5- Internet explorer,

6- PUFFIN browser,

7- Samsung Internet Browser etc.

 मोबाइल के लिए ब्राउज़र्स तो कई सारे होते हैं कई सारे आपको प्ले स्टोर पर मिल जाएंगे, PC के लिए ब्राउज़र और मोबाइल के लिए ब्राउज़र लगभग एक जैसे ही होते हैं लेकिन मोबाइल के लिए अलग ब्राउज़र बनाए गए हैं जो कि अधिक से अधिक फीचर लेके आते है लेकिन PC अंदर जो ब्राउज़र रहते हैं वह डिफॉल्ट में रहते हैं, Browser क्या है ? कितने प्रकार के होते है ? पूरी जानकारी

और अलग से कोई ब्राउज़र को कोई इंस्टॉल करता नहीं है हालांकि PC के अंदर कई सारे ब्राउजर को इंस्टॉल कर सकते हैं लेकिन बहुत सारे लोग ब्राउजर को इंस्टॉल करते नहीं हैं जो डिफॉल्ट में आते हैं उन्हीं ब्राउज़र का इस्तेमाल लोग करते हैं, PC के अंदर,

अब मोबाइल की बात करें तो मोबाइल के अंदर कई सारे ऐसे ब्राउज़र हैं जो कि हू-बहू PC के लिए वही मोबाइल के लिए भी हैं लेकिन मोबाइल के अंदर html को edit करना बहुत ज्यादा मुश्किल होता है, browser kya है

कई बार स्पीड की प्रॉब्लम होती है तो ऐसे में कई सारे ब्राउज़र्स को मोबाइल के लिए बनाया जाता है ताकि लोग इंस्टॉल कर सके और html के काम अपने फोन में ही कर सकें,

ब्राउज़र्स के फीचर्स features of browsers

 वैसे तो अलग अलग ब्राउज़र के अलग अलग फीचर्स होते हैं जैसे कि गूगल क्रोम सिक्योर गूगल का ही ब्राउज़र है लेकिन इसके अंदर हमें कई सारे फीचर ऐसे नहीं मिलते हैं, Browser क्या है ? कितने प्रकार के होते है ? पूरी जानकारी

जो कि बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण है जैसे कि डेक्सटॉप मोड हालांकि गूगल क्रोम के अंदर डेक्सटॉप मोड मिलता है लेकिन पूरी तरीके से वो डेक्सटॉप के रूप में शो नहीं होता है,

Mobile ब्राउज़र्स के अंदर Page Source को कैसे देख सकता हू (how to view page source in mobile browsers)

 मोबाइल के अंदर गूगल क्रोम के अंदर हम html को edit नहीं कर सकते हैं जैसे कि अगर मुझे ब्लॉगर की html को edit करना है तो मैं वहां पर html को एडिट नहीं कर सकता हूं,

और दूसरी चीज यह है कि मैं अगर किसी webpage वेबसाइट का Page Source देखना चाहता हूं तो वह भी मैं नहीं देख सकता हूं,

Also Read – ITI क्या है iti मे कितनी ट्रेड़े होती है NCVT व SCVT क्या है अंतर

 लेकिन मैं अगर बात करूं दूसरे मोबाइल ब्राउजर कि जैसे कि firefox ब्राउज़र कि तो मैं इस ब्राउजर के अंदर Page Source को देख सकता हूं अगर मैं किसी वेबसाइट की HTML कोडिंग को देखना चाहता हूं तो मैं इस ब्राउज़र के अंदर देख सकता हूं.

Mobile ब्राउज़र्स मे से HTML किस ब्राउज़र से edit कर सकते है ? How to edit html in mobile browsers

 दोस्तों जो मशहूर ब्राउज़र के अंदर आप html को एडिट नहीं कर सकते हो उन ब्राउज़र्स के अंदर ऐसा फीचर नहीं होता है कि आप html को एडिट कर सकूं लेकिन अगर आप html को एडिट करने का प्रयास करते हैं तो वह ब्राउज़र बहुत ज्यादा Lag करेगा,

Html को एडिट करने के लिए आपको Puffin ब्राउजर का उपयोग करना पड़ेगा या फिर आप Samsung के इंटरनेट ब्राउज़र के अंदर भी एडिट कर सकते हैं आसानी से आप html एडिट कर सकते हैं.

PC के जैसे mobile मे website को open किस browser मे कर सकते है ? How to View Web page like PC in Mobile browser

 दोस्तों अगर आप चाहते हैं कि जिस तरीके से कोई वेबसाइट अगर हम मोबाइल में खोलते हैं तो वह वेबसाइट कंप्यूटर के जैसे नहीं खुलती है लेकिन अगर आप इस ब्राउज़र का उपयोग करेंगे तो जैसे वह वेबसाइट कंप्यूटर के अंदर खुलती है वैसे ही आप अपने मोबाइल के अंदर उस वेबसाइट को खोल सकते हैं उस ब्राउज़र का नाम है पफीन ब्राउजर,(Puffin Browser).

 यह मात्र एक ऐसा ब्राउज़र है जो कि बिल्कुल कंप्यूटर के जैसे आपके वेब पेज को ओपन करता है यह मोबाइल ब्राउज़र में से सबसे प्रमुख ब्राउज़र में इसको बोलता हूं, क्योंकि यह बिल्कुल वैसे ही लुक देता है जैसे कि कंप्यूटर के अंदर हमे किसी वेबपेज को ओपन करने पर मिलता है.

what is browser in hindi

 ब्राउज़र एक एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर है जो कि इंटरनेट पर उपलब्ध तमाम पेजो को शो करवाता है और यही हमें इंटरनेट से पूर्ण तरीके से कनेक्ट होने में मदद भी करता है इसी को हम ब्राउज़र कहते हैं

ब्राउज़र मे Cache क्या है ? what is browser cache

 ब्राउज़र में cache एक ऐसी मेमोरी है जो कि किसी वेबसाइट का डाटा उस ब्राउज़र में संग्रह करके रखती है जैसे कि अगर हम किसी वेबसाइट को खोल रहे हैं तो उसका Cache हमारे ब्राउज़र के अंदर Save हो जाता है,

ताकि अगर हम दोबारा से उस वेबसाइट पर जाएं तो ज्यादा लोडिंग ना हो और एक कारण यह है कि Cache मेमोरी का गूगल ऐड का भी फायदा है, Browser क्या है ? कितने प्रकार के होते है ? पूरी जानकारी

जैसे अगर मैं ब्राउज़र के अंदर सर्च करता हूं किसी प्रोडक्ट को तो वह प्रोडक्ट जिसको Search किया है और हम जिस वेबसाइट पर गए हैं उस वेबसाइट का Cache Save हो जाएगा और आपको वैसे ही ऐड देखने को मिलेंगे जिस प्रोडक्ट को आप खरीदना चाहते हैं या फिर आपने जिस प्रोडक्ट को सर्च किया था,

 तो cache का उपयोग गूगल ऐड के लिए भी किया जाता है जिससे गूगल कंपनी को बहुत ज्यादा फायदा होता है.

ब्राउज़र हिस्ट्री क्या है ? what is browser हिस्ट्री

 ब्राउज़र के अंदर आपने हिस्ट्री को तो देखा होगा आपने उस ब्राउज़र के अंदर जिस-जिस वेबसाइट को आप ने चलाया है जिस-जिस वेबसाइट को आपने सर्च किया है और जिस वेबसाइट को आपने ओपन किया है उन सभी का डाटा हमारी ब्राउज़र में सेव होता है जिसे हम हिस्ट्री कहते हैं,

PC के अंदर हिस्ट्री को अगर आप देखना चाहते हैं तो CTRL+H दबाकर आप हिस्ट्री को देख सकते हैं और मोबाइल के अंदर आप आसानी से हिस्ट्री ऑप्शन पर क्लिक करके आप अपनी हिस्ट्री को देख सकते हैं कि आपने किस-किस वेबसाइट को ओपन किया है, और आप उस हिस्ट्री को डिलीट भी कर सकते हैं 

ब्राउज़र मे Site नोटिफिकेशन, Site Notifications In ब्राउज़र्स

 दोस्तों आपने कई सारी ऐसी वेबसाइटों को ओपन किया होगा अपने ब्राउज़र के अंदर जिन वेबसाइटों ने एक्सेस लिया होगा आपकी नोटिफिकेशन का मतलब कि आपको कई तरीके की अलग अलग नोटिफिकेशन आती होंगी,

आपकी ब्राउज़र के अंदर जब आप किसी वेबसाइट को ओपन करते हो तब उस वेबसाइट का पॉपअप आता है कि आप हमारी नोटिफिकेशन को इनेबल कर दीजिए तो बाद में क्या होता है कि वह नोटिफिकेशन हमारे फोन के अंदर आ रही होती है,

तो लोग इससे भी परेशान हो जाते हैं तो उसको बंद करने का उपाय पहला उपाय तो आप ब्राउज़र के अंदर जाकर साइट सेटिंग के अंदर जाकर site की डाटा को डिलीट कर सकते हैं दूसरा उपाय यह है कि आप ऐप नोटिफिकेशन में जाकर आप सभी नोटिफिकेशन को बंद कर सकते हैं.

UC Browser

UC ब्राउज़र भी भारत में बहुत ज्यादा लोकप्रिय था और बहुत सारे लोग इस ब्राउज़र को उपयोग कर रहे थे UC ब्राउज़र था जो इंडियन यूजर्स का डाटा लीक कर रहा था और यह ब्राउज़र चाइना का था इसलिए इस ब्राउज़र को भारत सरकार ने बैन कर दिया और यह प्ले स्टोर पर भी नहीं है

Browser क्या है ? कितने प्रकार के होते है ? पूरी जानकारी
Browser क्या है ? कितने प्रकार के होते है ? पूरी जानकारी

दोस्तों अगर browsers से संबंधित कोई प्रश्न है तो कमेंट मे जरूर पूछियेगा

 

Faqs about browser

जो ब्राउज़र है उसका काम ही यही है कि जितने भी वेबपेज हैं उन सभी को इंटरनेट से कनेक्ट करना बिना ब्राउज़र के हम इंटरनेट से कनेक्ट नहीं हो सकते हैं इंटरनेट को चला नहीं सकते हैं इसलिए हमें ब्राउज़र की आवश्यकता होती है,

जैसे कि गूगल क्रोम, फायरफॉक्स, माइक्रोसॉफ्ट एज इत्यादि और भी कई प्रकार के ब्राउज़र होते हैं लेकिन मैं अगर परिभाषित करूं ब्राउज़र को,

कि ब्राउज़र क्या है ? ब्राउज़र एक ऐसा एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर है जो कि इंटरनेट से कनेक्ट करने का काम करता है और इंटरनेट पर उपलब्ध पेजो को दिखाता है

ब्राउज़र में cache एक ऐसी मेमोरी है जो कि किसी वेबसाइट का डाटा उस ब्राउज़र में संग्रह करके रखती है जैसे कि अगर हम किसी वेबसाइट को खोल रहे हैं तो उसका Cache हमारे ब्राउज़र के अंदर Save हो जाता है,

ताकि अगर हम दोबारा से उस वेबसाइट पर जाएं तो ज्यादा लोडिंग ना हो और एक कारण यह है कि Cache मेमोरी का गूगल ऐड का भी फायदा है,

PC के लिए ब्राउज़र्स Browsers of PC

 

1- Google Chrome,

2- Opera Mini,

3- Mozilla Firefox,

4- Microsoft EDGE,

5- Internet Explorer, etc.

Mobile के सबसे महत्वपूर्ण ब्राउज़र्स important Browsers of Mobile

1- Google chrome,

2- Opera mini,

3- Mozilla firefox,

4- Microsoft edge,

5- Internet explorer,

6- PUFFIN browser,

7- Samsung Internet Browser etc.

मोबाइल के अंदर गूगल क्रोम के अंदर हम html को edit नहीं कर सकते हैं जैसे कि अगर मुझे ब्लॉगर की html को edit करना है तो मैं वहां पर html को एडिट नहीं कर सकता हूं,

और दूसरी चीज यह है कि मैं अगर किसी webpage वेबसाइट का Page Source देखना चाहता हूं तो वह भी मैं नहीं देख सकता हूं,

 लेकिन मैं अगर बात करूं दूसरे मोबाइल ब्राउजर कि जैसे कि firefox ब्राउज़र कि तो मैं इस ब्राउजर के अंदर Page Source को देख सकता हूं अगर मैं किसी वेबसाइट की HTML कोडिंग को देखना चाहता हूं तो मैं इस ब्राउज़र के अंदर देख सकता हूं.

दोस्तों अगर आप चाहते हैं कि जिस तरीके से कोई वेबसाइट अगर हम मोबाइल में खोलते हैं तो वह वेबसाइट कंप्यूटर के जैसे नहीं खुलती है लेकिन अगर आप इस ब्राउज़र का उपयोग करेंगे तो जैसे वह वेबसाइट कंप्यूटर के अंदर खुलती है वैसे ही आप अपने मोबाइल के अंदर उस वेबसाइट को खोल सकते हैं उस ब्राउज़र का नाम है पफीन ब्राउजर,(Puffin Browser).

दोस्तों जो मशहूर ब्राउज़र के अंदर आप html को एडिट नहीं कर सकते हो उन ब्राउज़र्स के अंदर ऐसा फीचर नहीं होता है कि आप html को एडिट कर सकूं लेकिन अगर आप html को एडिट करने का प्रयास करते हैं तो वह ब्राउज़र बहुत ज्यादा Lag करेगा,

Html को एडिट करने के लिए आपको Puffin ब्राउजर का उपयोग करना पड़ेगा या फिर आप Samsung के इंटरनेट ब्राउज़र के अंदर भी एडिट कर सकते हैं आसानी से आप html एडिट कर सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here